राहुल के पैतृक गांव में पार्क बनाए जाने की कवायद हुई शुरू

कानपुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के गांव बिकरू में दबिश देकर उसे पकड़ने गए पुलिस टीम पर हमले में शहीद हुए रुरुकला गांव निवासी सिपाही राहुल के पैतृक गांव में पार्क बनाए जाने की कवायद शुरू कर दी गई है।

गांव रुरुकला निवासी शहीद राहुल दिवाकर के स्वजनों की मांग पर शासन द्वारा उनके पैतृक गांव में शहीद पार्क का निर्माण कराए जाने की बात कही गई थी। छह जुलाई को शहीद के घर प्रदेश सरकार के जिला एवं कारागार मंत्री व जनपद के प्रभारी मंत्री जयकुमार सिंह जैकी पहुंचे थे। जहां शहीद की पत्नी दिव्या को 80 लाख रुपये, पिता ओमकार सिंह को दस लाख व माता शीला देवी को दस लाख रुपये समेत प्रदेश सरकार द्वारा शहीद परिवारों को घोषित एक करोड़ रुपये की खाता चेक प्रदान की गई थी। तभी शहीद राहुल के स्वजन द्वारा प्रभारी मंत्री से गांव में एक शहीद स्मारक, एक पार्क व एक सड़क शहीद के नाम से बनवाए जाने की मांग की गई थी। जिस पर प्रभारी मंत्री द्वारा तत्काल जिलाधिकारी अभिषेक सिंह को आदेश दिया गया था। डीएम के आदेश के बाद रविवार को एसडीएम राशिद खान की निगरानी में क्षेत्रीय लेखपाल सरिता सिंह व कानूनगो धर्मपाल सिंह गांव में शहीद पार्क बनाए जाने के लिए जगह देखने पहुंचे। ग्राम पंचायत में खाली भूमि न होने पर शहीद के परिवार द्वारा अपने खेतों में अंत्येष्टि स्थल के पास पार्क के लिए जगह दिए जाने की बात कही गई। ग्राम पंचायत में जगह न होने के कारण शहीद परिवार से जगह की बात कही गई थी। अपने खेतों में जगह देने के लिए सभी स्वजन एकराय है। जल्द ही जगह की माप तौल कर कार्य शुरू कराया जाएगा। -सरिता सिंह, क्षेत्रीय लेखपाल

=>
LIVE TV