70 स्तंभकारों को भागवत ने किया संबोधित, हिंदूओं पर कहीं यह बात…

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संचालक मोहन भागवत ने जनता को संबोधित किया। उन्होंने स्तंभकारों के एक समूह को संबोधित किया। भागवत ने यह दिल्ली के छत्तरपुर इलाके में किया। संबोधन अपने संबोधन में मोहन ने हिंदूओं पर कई बाते कहीं।

मोहन भागवत

खुलापन हिन्दुओं की विशेषता है इसे बचाके रखने में ही सभी की भलाई है। उन्होंने कहा कि हिंदू समाज को अपने धर्म के प्रति थोड़ा जागृत होना पड़ेगा। लेकिन किसी के विरूद्ध नहीं होना चाहिए। आरएसएस के बारे में जो गलत धारना फैलाई जा रही है उसके बारे में भी सभी को जानकारी दी।

एक स्तंभकार के अनुसार, भागवत ने कहा, ‘खुलापन हिन्दुओं की विशेषता है और इसे बचाये रखा जाना चाहिए.’ भागवत ने हिन्दुओं को जागृत एवं सतर्क रहने पर जोर देते हुए कहा कि जब तक हिन्दू संगठित एवं सतर्क है, उसे कोई खतरा नहीं है। स्तंभकार के अनुसार सरसंघचालक ने कहा, ‘हिन्दुओं को जागृत रहना है लेकिन किसी के विरूद्ध नहीं. उन्हें प्रतिक्रियावादी होने की जरूरत नहीं।

पुलवामा में सुरक्षाबलों के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, तीन आतंकी ढेर

हम किसी का वर्गीकरण नहीं करते हैं। हम किसी पर संदेह नहीं करते हैं.’ नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और इसके खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शनों पर भागवत ने कहा कि किसी भी कानून को नापसंद किया जा सकता है और उसमें बदलाव की मांग की जा सकती है, लेकिन इसके नाम पर न तो बसें जलाई जा सकती हैं और न ही सार्वजनिक संपत्ति को बर्बाद किया जा सकता है।

=>
LIVE TV