राम मंदिर निर्माण कार्य में आयी तेजी, 18 जुलाई को लिया जाएगा निर्णय

 लखनऊ। रामजन्म भूमि अयोध्या में मंदिर निर्माण कार्य तेज हो गया है। मंदिर निर्माण के लिए जमीन का समतलीकरण पुरा हो चुका है। अब भूमि पूजन के बाद मंदिर की आधारशिला रखी जाएगी। उसके बाद भव्य मंदिर निर्माण की शुभारंभ होगा। राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बुलाने को लेकर अटकले लगाई जा रही है। इस संबंध में गुरुवार को राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों ने अयोध्या के सर्किट हाउस में बैठक कर भूमि पूजन को लेकर चर्चा की। बैठक के बाद ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि भूमि पूजन पर अंतिम निर्णय 18 जुलाई को होने वाली ट्रस्ट की बैठक में लिया जाएगा।

श्री राय ने बताया कि आज राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्रा के साथ शिष्टाचार बैठक हुई। बैठक में 18 जुलाई को प्रस्तावित बैठक को लेकर चर्चा होगी। चंपत राय ने बताया कि भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री को बुलाने या न बुलाने पर भी 18 जुलाई को निर्णय लिया जाएगा। आज की बैठक में ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र, डीएम अनुज झा एसएसपी आशीष तिवारी राम जन्म भूमि सुरक्षा सलाहकार केके शर्मा व कमिश्नर एमपी अग्रवाल मौजूद रहे।

=>
LIVE TV