राज्य पोषण मिशन के प्रति लापरवाह अधिकारियों के विरूद्ध होगी कार्रवाईः अभय

Picture 001 (1)बहराइच 14 अप्रैल । राज्य पोषण मिशन तथा स्वास्थ्य योजनाओं एवं नियमित टीकाकरण अभियान की समीक्षा के दौरान जिले में अपेक्षित प्रगति न पाये जाने पर जिलाधिकारी अभय ने कड़ा रूख अख्तियार करते हुए 07 अधीक्षक/प्रभारी चिकित्साधिकारियों, 04 बाल विकास परियोजना अधिकारियों (सी.डी.पी.ओ.) तथा 01 नोडल अधिकारी का माह अप्रैल 2016 का वेतन बाधित करते हुए सम्बन्धित से 03 दिन में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।

विकास भवन सभागार में राज्य पोषण मिशन अन्तर्गत गठित जिला स्तरीय पोषण समिति की बैठक में मिशन अन्तर्गत गोद लिये गये गावों की समीक्षा के दौरान पाया गया कि विकास खण्ड हुजूरपुर के ग्राम नेवासी एवं रामपुर में मिशन की प्रगति अच्छी नहीं है। ग्राम नेवासी में माह सितम्बर 2015 में 05 तथा ग्राम रामपुर में 11 बच्चे अतिकुपोषित श्रेणी में चिन्हित किये गये थे। परन्तु माह मार्च 2016 की स्थिति के अनुसार ज्ञात हुआ कि ग्राम नेवासी एवं रामपुर के 04-04 बच्चे अभी भी अतिकुपोषित श्रेणी में ही हैं। इस स्थिति के लिए जिलाधिकारी ने गॉव के लिए नामित नोडल अधिकारी पीडीडीआरडीए का माह अप्रैल 2016 का वेतन बाधित करने तथा 03 दिवस में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया।

बैठक में वज़न दिवस की सघन समीक्षा के दौरान पाया गया कि सीडीपीओ चित्तौरा मैमूना नाहिद, महसी की विमला कुमारी, कैसरगंज की सीमा इज़राइल तथा पयागपुर की प्रभारी सीडीपीओ अमृता श्रीवास्तव द्वारा शत-प्रतिशत बच्चों का वज़न नहीं कराया गया था और न ही डाटा फीडिंग कार्य में अपेक्षित रूचि ली गयी है। बैठक में मौजूद यह सभी अधिकारी ऐसा न करने का कोई औैचित्यपूर्ण जवाब ही दे सके। इस स्थिति पर जिलाधिकारी ने कड़ी कार्यवाही करते हुए सभी सम्बन्धित का अग्रिम आदेशों तक माह अप्रैल का वेतन बाधित करने तथा 03 दिवस में स्पष्टीकरण प्रस्तुत किये जाने का निर्देश दिया।

इसी प्रकार स्वास्थ्य केन्द्र अन्तर्गत अति कुपोषित बच्चों की ट्रैकिंग का कार्य सही ढंग से न किये जाने, कुपोषित बच्चों को एनआरसी न भेजे जाने के कारण जिलाधिकारी सा.स्वा. केन्द्र चित्तौरा के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. अमित सोनी, हुजूरपुर के डा. अनिल कुमार वर्मा तथा सा.स्वा.केन्द्र रिसिया के अधीक्षक डा. सन्दीप मिश्रा का माह अप्रैल को वेतन बाधित करते हुए 07 दिवस के अन्दर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।

जिलाधिकारी जिले की समस्त सी.डी.पी.ओ. एवं ऑगनबाड़ी कार्यकत्रियों, सामु./प्राथ. स्वा. केन्द्र के अधीक्षक एवं प्रभारी चिकित्साधिकारियों को सचेत किया है कि स्वास्थ्य योजनाओं एवं नियमित टीकाकरण अभियान तथा राज्य पोषण मिशन को शासन की मंशानुरूप क्रियान्वित करने में पूरे मनोयोग से जुट जाएं। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी प्रकार की शिथिलता और उदासीनता को पूरी गम्भीरता से लिया जायेगा और सम्बन्धित के विरूद्ध इससे भी कठोर कार्रवाई अमल में लायी जायेगी।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. डीआर सिंह, परियोजना निदेशक रजत यादव, गोद लिये गये गॉवों के नोडल अधिकारी व अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

=>
LIVE TV