राजनीतिक विवाद के बीच दिल्ली-एनसीआर में जेईई मेंस की परीक्षा की गई आयोजित

 राजनीतिक विरोध व विवाद के बीच मंगलवार को दिल्ली-एनसीआर में जेईई मेंस की परीक्षा आयोजित की गई। परीक्षा देने के बाद छात्रों ने अपना अनुभव भी साझा किया। पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार स्थित अर्वाचीन भारती भवन सीनियर सेकेंडरी स्कूल में जेईई की परीक्षा देने आए परीक्षार्थी नमन ने बताया कि वह पिछले दो वर्ष से परीक्षा की तैयारी कर रहे थे। उन्हें परीक्षा देने में कोई समस्या नहीं हुई। उन्होंने कहा जो लोग परीक्षा का विरोध कर रहे थे उन्हें लग रहा था कि परीक्षार्थियों को कोरोना के चलते काफी दिक्कत होगी और शरीरिक दूरी का पालन नहीं हो पाएगा लेकिन यहां काफी अच्छी व्यवस्था थी।

विवेक विहार स्थित अर्वाचीन भारती भवन सीनियर सेकेंडरी स्कूल में जेईई की दूसरी शिफ्ट की परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों के प्रवेश से पहले स्कूल के अंदर व बाहर जगह-जगह सैनिटाइजेशन किया गया।

विवेक विहार स्थित अर्वाचीन भारती भवन सीनियर सेकेंडरी स्कूल में जेईई की परीक्षा देने संगम विहार से अमन ने बताया कि पेपर तो काफी अच्छा आया उन्हें किसी भी प्रश्न में दिक्कत नहीं हुई लेकिन उन्हें परीक्षा केंद्र तक पहुंचने में काफी परेशानी हुई। सुबह पांच बजे वह घर से निकल गए थे बहुत देर तक बस का इंतजार किया पर बस नहीं मिली तो सात बजे ऑटो करके वह परीक्षा केंद्र पहुंचे। इस बीच उन्हें डर लग रहा था कहीं पेपर न छूट जाए

वहीं,  द्वारका से जेईई की परीक्षा देने आई शिवानी कुमार ने कहा कोरोना के चलते तमाम दिक्कतों के बाद भी वह परीक्षा देना चाहती थीं, इसके लिए उन्होंने काफी तैयारी की थी। इतनी अड़चनों के बाद आखिरकार यह दिन आ गया और वह परीक्षा देने जा रही हैं।

नोएडा के सेक्टर 62 स्थित आई ऑन डिजिटल जोन में जेईई की परीक्षा आयोजित की गई। यहां पर शारीरिक दूरी को ध्यान में रखते हुए परीक्षा के सभी इंतजाम किए गए थे।

वहीं, नोएडा परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थी रिया कुमारी ने कहा इस पेपर में कोरोना और परीक्षा दोनों का डर सता रहा था, मैथ्स के सवाल कठिन आये थे बाकी पेपर सामान्य था।

फरीदाबाद के सेक्टर 20बी स्थित ईयान डिजिटल जोन में बनाए गए परीक्षा केंद्र से जेईई मेन की परीक्षा हुई। परीक्षा देने के बाद परिक्षार्थियों ने कहा, ऑनलाइन परीक्षा का अनुभव पहले से ही था और कोरोना संक्रमण की वजह से तैयारी के लिए काफी समय मिल गया। प्रश्न पत्र उम्मीद से भी ज्यादा आसान थे।

वहीं, गुरुग्राम के सेक्टर 34 स्थित डीपीजी कालेज में जेईई की परीक्षा आयोजित की गई। यहां पर भी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी उपाय किए गए थे।

उधर, दिल्ली के मुंडका स्थित केंद्र में छात्रों ने जेईई की परीक्षा दी। यहां पर भी सभी जरुरी इंतजाम किए गए थे। 

बता दें कि जेईई की परीक्षा दो पालियों में हो रही है। पहली पाली में सुबह 9 से 12 बजे परीक्षा आयोजित की गई जबकि दूसरी पाली में 2 से शाम बजे तक परीक्षा आयोजित की गई है। C

=>
LIVE TV