राजधानी में चल रहा धरना अस्थाई रुप से बंद

लखनऊ। कोरोना वायरस के मद्देनजर लखनऊ के घण्टाघर में 17 जनवरी से नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहा महिलाओं का धरना प्रदर्शन खत्म हो गया है. यह धरना अस्थाई तौर पर खत्म हुआ है. महिलाओं ने कोरोना की वजह से अस्थाई तौर पर धरना खत्म किया है, बताया जा रहा है कि कोरोना महामारी खत्म होने के बाद फिर से धरना शुरू हो जाएगा. इस बीच महिलाओं ने सांकेतिक तौर पर अपने दुपट्टे घण्टाघर पर छोड़ दिये हैं.

कोरोना वायरस के कारण पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है. भारत की ही बात करें तो देश में कोरोना वायरस के कारण अब तक सात लोगों की जान जा चुकी है, वहीं जबकि इससे प्रभावित लोगों की संख्‍या अब 350 से भी ऊपर चली गई है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार यानी 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था, वह सफलतापूर्वक पूरा हो गया. लेकिन अब देश के 13 राज्‍य और कुल मिलाकर देश के 80 जिलों में लॉकडाउन हो गया है.

कोरोना परिवार के 7सदस्य जो पूरी दुनिया में मचा रहें कोहराम,जाने कौन से है…

इसमें उत्तर प्रदेश के 15 जिले शामिल हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रिववार को बताया कि 23 मार्च से आगरा, लखनऊ, गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद, मौरादाबाद, वाराणसी, लखीमपुर खिरि, बरेली, आजमगढ़, कानपुर, मेरठ, प्रयागराज, अलीगढ़स, गौरखपुर और सहारनपुर डाउन रहेंगे. ये लॉकडाउन 25 मार्च तक जारी रहेगा.

=>
LIVE TV