मौसम में लगातार हो रहा बदलाव,घट रहा घाघरा का जलस्तर

मौसम में लगातार बदलाव हो रहा है। बुधवार की सुबह धूप के साथ हुई तो दोपहर बाद अचानक आकाश में बादल छाने लगे। इससे उमस भरी गर्मी से बेहाल लोगों ने राहत की सांस ली। मौसम में अचानक बदलाव से लगा कि बारिश होगी, लेकिन शाम को हल्की बूंदाबांदी ही हुई। बुधवार को जिले का तापमान अधिकतम 34 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम 27 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। दूसरी ओर घाघरा घाघरा नदी के जलस्तर में बुधवार को 26 सेंटीमीटर गिरावट दर्ज की गई।

फिलहाल नदी का जल स्तर खतरे के निशान से एक सेंटीमीटर ऊपर है। मंगलवार के मुकाबले बुधवार को नदी के जल स्तर 92.900 मीटर से नीचे लुढ़क कर 92.740 मीटर पर पहुंच गया। नदी खतरे के निशान निशान 92.730 मीटर से मात्र एक सेंटीमीटर ऊपर है। जल स्तर में गिरावट जारी रहने से ग्रामीणों को फौरी तौर पर राहत जरूर मिली है, लेकिन पानी कम होने से तटीय क्षेत्रों में कटान की संभावना बढ़ जाती है। इससे तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों में दहशत है। टांडा संवादसूत्र के अनुसार संभावना जताई जा रही है कि गुरुवार को नदी का जल स्तर खतरे के निशान से काफी नीचे पहुंच जाएगा। सबसे अधिक प्रभावित होने वाले मांझा उल्टहवा के विजय, राम सूरत आदि ग्रामीणों ने बताया बाढ़ का पानी घटने से राहत मिली है, लेकिन कभी-कभी ऐसी स्थिति में कटान भी अधिक होता है। एसडीएम टांडा अभिषेक पाठक ने कहा कि बाढ़ पर नजर रखी जा रही है। बाढ़ चौकी के साथ कर्मचारियों को भी सजग रहने के लिए निर्देशित किय गया है।

=>
LIVE TV