मोदी सरकार ने 5 सालों में वो कर दिया जो 72 सालों में कोई नहीं कर सकाः चौकीदार अरुण जेटली

नई दिल्ली। मंत्री चौकीदार अरुण जेटली ने कहा- आजादी के बाद से जितनी भी सरकारें हुईं, वो जो काम 72 सालों में नहीं कर पाईं वो मोदी सरकार ने बीते पांच सालों में कर दिखाया।

चौकीदार अरुण जेटली का कहना है कि मोदी सरकार के कार्यकाल में भारत की अर्थव्यवस्था सबसे मजबूत स्थिति में है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी सरकार ने अर्थव्यवस्था को इतनी ऊंचाई दी हो।

ट्विटर पर चौकीदार जेटली ने कहा कि 1947 के बाद की सरकारों के 5 साल के कार्यकाल की तुलना में मोदी सरकार (2014-19) में जीडीपी ग्रोथ रेट 7.3 फीसदी है।

फिस्कल डेफिसिट यानी राजकोषीय घाटे का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि कुछ साल पहले तक यह 5 फीसदी से ज्‍यादा था जो अब घटकर 3.4 फीसदी के करीब है। उन्होंने दावा किया कि करंट अकाउंट डेफिसिट यानी चालू खाता घाटा और महंगाई के आंकड़े भी नियंत्रण में है।

चौकीदार जेटली ने बताया कि यूपीए सरकार में महंगाई दर के आंकड़े 10 फीसदी से अधिक थे जबकि मोदी सरकार के कार्यकाल समाप्‍त होने पर यह 2.5 फीसदी के करीब रह गए हैं। जेटली ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष भी सरकार के आंकड़ों पर मुहर लगाई है।

मोदी सरकार के फैसलों को गेमचेंजर करार देते हुए उन्होंने कहा कि, ‘5 साल की अवधि एक राष्ट्र में जीवन की लंबी अवधि नहीं है। हांलांकि यह प्रगति के लिए अपनी दिशा में एक महत्वपूर्ण मोड़ हो सकता है।’

1991 में देश के आर्थिक बदलाव का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि, ‘तब के प्रधानमंत्री पी. वी. नरसिम्हा राव के कार्यकाल में वित्तीय संकट था। आर्थिक स्थिति ने उन्हें सुधारों के लिए मजबूर किया।’

हरिद्वार : लूट और ताबड़तोड़ चोरियों से लोग हुए परेशान…

चुनौतियों का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि, ‘हम सत्‍ता में तब आए जब भारत पहले से ही ‘5 सबसे कमजोर अर्थव्यवस्था वाले देशों या फ्रेगाइल फाइव’ का हिस्सा था। वहीं दुनिया भी मान रही थी कि ‘ब्रिक्स’ से भारत का ‘आई’ हट जाएगा। सरकार के पास कोई विकल्प नहीं था और इसे सुधारना ही पड़ा। उस समय ‘सुधारों या मिट जाओ’ की चुनौती भारतीय अर्थव्यवस्था के सामने थी।’

=>
LIVE TV