महाराष्ट्र में अंतिम वर्ष की एग्जाम अक्टूबर तक के लिए आगे बढ़ाए जाने के नज़र आ रहे संकेत

महाराष्ट्र में अंतिम वर्ष की एग्जाम अक्टूबर तक के लिए आगे बढ़ाए जाने के संकेत नज़र आ रहे हैं। इन एग्जाम को अक्टूबर में आयोजित कराए जाने की संभावना जताई जा रही है। मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि इस परीक्षा का पेपर बहुविकल्पीय प्रश्नों वाला होगा। महाराष्ट्र सरकार अंतिमवर्ष/लास्ट सेमेस्टर के स्टूडेंट की परीक्षा के लिए अपने नए दिशानिर्देश भी जल्द जारी कर सकता है। इस बारे में रविवार को वाइस चांसलर्स समिति की एक मीटिंग भी हुई है।

समिति को चर्चा के बाद आज (सोमवार को) राज्य सरकार के पास अपनी रिपोर्ट जमा करना है। मुंबई यूनिवर्सिटी के सूत्रों के मुताबिक, ऐसी बहुत अधिक संभावना है कि पैनल फाइनल ईयर की परीक्षाएं ऑनलाइन तरीके से कराने का सुझाव दे सकता है। साथ ही विश्वविद्यालयों से कहा जा सकता है कि वे ऑनलाइन एग्जाम की तैयारी के बारे में कॉलेज प्रिंसिपलों से बात करें। इसके अलावा अंकों का वेटेज भी कम किया जा सकता है। एक पेपर 100 अंकों का और एक घंटे का किया जा सकता है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,  चूँकि विश्वविद्यालयों को अभी ऑनलाइन एग्जाम कराने के लिए तैयारी करनी होगी ऐसे में 30 सितंबर से पहले परीक्षाएं कराए जाने की संभावना काफी कम है। राज्य के उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने मोदी सरकार की अनलॉक गाइडलाइन्स पर भी सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा जब 30 सितंबर तक स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे तो अंतिम वर्ष की एग्जाम कैसे आयोजित कराई जाएंगी। ऐसी स्थिति में राज्य सरकारें और स्टूडेंट क्या कर सकते हैं?

=>
LIVE TV