मसूद अजहर को लेकर सुषमा स्वराज ने चीन से किए सवाल

sushma-swaraj_56b81db2a9e02एजेंसी/ माॅस्को : विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने माॅस्को में चीन के विदेश मंत्री वाग ली से भेंट की। दोनों नेताओं के बीच रूस- भारत और चीन की संयुक्त बैठक से अलग हटकर वार्ता हुई। जिसमें विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने भारत के पठानकोट में होने वाले आतंकी हमले के मास्टमाईंड मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने का मसला सामने रखा। उन्होंने इस मसले पर गंभीरता से चर्चा की और सवाल किए कि आखिर चीन ने यूएन में मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने का समर्थन क्यों नहीं किया।

रूस – भारत – चीन की संयुक्त वार्ता से अलग हटकर माॅस्को में दोनों ही नेताओं ने जब भेंट की तो भारत की ओर से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सवाल किया कि मसूद अजहर को प्रतिबंधित आतंकी घोषित किए जाने के विरूद्ध चीन ने वीटो का उपयोग किया। मगर मसूद अजहर एक आतंकी है। जो कि भारत के विरूद्ध चलाए जाने वाले कई अभियानों में शामिल रहा है।

यह आतंकी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी खतरनाक हो सकता है। मगर चीन ने कहा था कि यह आतंकी सुरक्षा परिषद के मानकों पर फिट नहीं है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब चीन ने पाकिस्तान के आतंकी संगठन पर प्रतिबंध को लेकर भारत का विरोध किया। वर्ष 2001 में संयुक्त राष्ट्र जैश ए मोहम्मद को प्रगतिबंधित कर चुका है भारत द्वारा मुंबई में हुए आतंकी हमले को लेकर आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने की मांग की जा रही है मगर इस दिशा में चीन ने रोड़ा अटका दिया।

चीन ने आतंकियों पर प्रतिबंध की मांग को खारिज करने का यह दूसरा प्रयास किया है इसके पूर्व मुंबई हमले के मास्टर माईंड जकीउर्रहमान लखवी पर भी प्रतिबंध लगाने की मांग की गई थी मगर चीन ने इस बारे में भी वीटो का उपयोग किया था। 

=>
LIVE TV