Monday , July 24 2017

इंडस्‍ट्री में अकेले पड़े मधुर, याद दिलाए एहसान

मधुर का दर्दमुंबईमधुर भंडारकर को इन दिनों अपनी फिल्‍म ‘इंदु सरकार’ के लिए भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। बीते शनिवार और रविवार को हुए हादसे के बाद उन्हें पुलिस प्रोटेक्‍शन भी दी गई है। इतना सबकुछ हो जाने पर भी मधुर के पक्ष में इंडस्‍ट्री से कोई आवाज नहीं उठी है। ऐसे में सोशल मीडिया पर मधुर का दर्द छलका है।

यह भी पढ़ें: हसीना पार्कर का ट्रेलर लॉन्‍च, दिखा श्रद्धा का डेडली अंदाज

बीते शनिवार और रविवार को मधुर अपनी फिल्‍म के प्रमोशन के लिए पुणे और नागपुर गए थे। इन दोनों जगह उनके साथ कुछ ऐसा हुआ जिसने उनके होश उड़ा दिए। मधुर और उन‍की टीम को अंदाजा भी नहीं रहा होगा कि प्रमोशन के दौरान ऐसा कुछ हो जाएगा।

पुणे में मधुर जिस होटल में ठहरे थे वहां उनके कमरे के नीचे कांग्रेस नेताओं ने हंगामा मचा दिया। मधुर के विरोध में मुर्दाबाद के नारे लगाए गए। यही सिलसिला अगले दिन नागपुर में भी कायम रहा। हालात को देखते हुए उन्‍हें पुलिस प्रोटेक्‍शन मिली है।

बता दें, इमरजेंसी के दौर पर आधारित उनकी फिल्‍म पर सेंसर बोर्ड ने 12 कट और 2 डिसक्‍लेमर लगाए हैं। इन कट्स में वो डायलॉग भी शामिल है जिन्‍हें रिलीज हुए ट्रेलर में दिखाया जा चुका है। इतना सबकुछ हो जाने पर फिल्‍म इंडस्‍ट्री से मधुर के सर्मथन में एक भी आवाज सामने नहीं आई है।

यह भी पढ़ें: FHM इंडिया मैगजीन के लिए कृति ने कराया स्‍टीमी फोटोशूट

फिल्म इंडस्ट्री में साथियों से समर्थन न मिलने का दर्द मधुर को बहुत है। मधुर का दर्द ट्विटर पर उनके हालिया पोस्‍ट से साफ झलक रहा है। मधुर ने ट्विटर पर कुछ स्‍क्रीनशॉट्स शेयर किए हैं। इनमें मधुर के उन पोस्‍ट और खबर का जिक्र है जब उन्‍होंने ‘उड़ता पंजाब’ और ‘ऐ दिल है मुश्किल’ के समर्थन में आवाज उठाई थी।

मधुर ने ये स्‍क्रीनशॉट्स शेयर कर उन लोगों को कुछ याद दिलाना चाहते हैं जिनके लिए मधुर ने तो आवाज उठाई लेकिन उन्‍होंने इस कठिन समय में मधुर का साथ नहीं दिया।

इसके अलावा मधुर ने एक अखबार की कटिंग शेयर की है। इसमें सेंसर बोर्ड द्वारा बताए गए बदलावों का जिक्र है। मधुर भंडारकर की फिल्‍म ‘इंदु सरकार’ 28 जुलाई को रिलीज होने वाली है।

 

 

 

 

 

LIVE TV