मई के अंत में मोदी जाएंगे ईरान यात्रा पर

narendra-modi_56fa0284a16c9एजेंसी/ नई दिल्ली : इस्लमिक देशों सउदी अरब व यूएई की यात्रा के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ईरान की यात्रा की भी योजना बना रहे है। इस्लामिक देशों के साथ भारत के मजबतू रिश्ते के लिए प्रयासरत मोदी की यह यात्रा मई के अंत में होने की संभावना है।

इस दौरान पीएम ऊर्जा, कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचों जैसे मुद्दो पर चर्चा कर सकते है। इनमें से ही एक है चाबाहार समझौता, जिसे भारत, अफगानिस्तान व ऊरान को मिलकर अंतिम रुप देना है। इस पर केवल तीनों देशों के हस्ताक्षर बाकी है। इसके अलावा दूसरा प्रमुख मुद्दा ऊर्जा से जुड़ा होगा।

दोनों देश फरजाद बी गैस क्षेत्र में भारत की साझेदारी पर भी सकते है। किन मध्य-पूर्व में तेजी से बदलाव हो रहा है। परमाणु करार के बाद, ईरान ने एक क्षेत्रीय शक्ति के रूप में अपनी स्थिति और मजबूत की है, यही कारण है कि इससे ईरान की सुन्नी अरब शक्तियों, विशेष रूप से सऊदी अरब के साथ टकराव सी स्थिति बन गई है।

गौर करने वाली बात यह है कि सउदी अरब, यूएई व कतर में बड़ी संख्या में भारतीय रहते है, जब कि ईरान में नही। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तेहरान की यात्रा कर चुके है, लेकिन मोदी तेहरान की यात्रा तब करेंगे जब ईरान द्वारा उस पर से प्रतिबंध हटाया जा चुका होगा।

ईरान के बाद मोदी की यात्रा का अगला पड़ा जून ने कतर जाना होगा। कतर में ऊर्जा डील व प्रासियों के मुद्दे मुख्य होंगे। दोहा के स्टेडियम में पीएम भारतीयों को संबोधित करेंगे।

=>
LIVE TV