बॉलीवुड एक्ट्रेस कोयना मित्रा को मिली 6 महीने की सजा, साथ ही शिकायतकर्ता को ब्याज समेत चुकानी होगी एक मुस्त रकम

कोयना मित्रा एक भारतीय फिल्म एक्ट्रेस हैं, जोकि मुख्य तौर से हिंदी सिनेमा में सक्रिय हैं। कोयनाकी हालिया रिलीज फिल्म अपना सपना मनी मनी है। कोयना मित्रा को चेक बाउंस के मामले में मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की एक कोर्ट ने 6 महीने की सजा सुनाई है.

बॉलीवुड एक्ट्रेस कोयना मित्रा

खबरों की माने तो कोर्ट ने इसी महीने कोयना मित्रा को सजा सुनाने के साथ ही 4 लाख 64 हजार रुपये और उसपर 1.64 लाख का ब्याज चुकाने का भी आदेश दिया था. कोयना को ये पैसे मॉडल पूनम शेट्ठी को देने पड़ेंगे. पूनम ने 2013 में कोयना के खिलाफ चेक बाउंस होने के बाद केस दर्ज कराया था. हालांकि कोयना ने इस आरोप से इनकार किया था.

शराब की 131 दुकानों पर शराब बंद करने के आदेश, बढ़ेगा राजस्व में करोड़ों का झटका

कोयना मित्रा को एक मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की कोर्ट ने चेक बाउंस के एक मामले में 6 महीने जेल की सजा दी है. इतना ही नहीं कोर्ट ने ये भी आदेश दिया कि कोयना, शिकायतकर्ता को ब्याज समेत 4.64 लाख रुपये भी दें.

ये मामला मामला 2013 का है. पूनम सेठी ने कोयना मित्रा के खिलाफ चेक बाउंस का केस दर्ज कराया था. सेठी का कहना था कि कोयना ने अपनी जरूरत बताकर उनसे 22 लाख रुपये उधार लिए थे. इसी को रकम वापस देने के लिए कोयना ने पूनम को तीन लाख रुपये का एक चेक दिया था, जो बाउंस हो गया था. चेक बाउंस होने के बाद पूनम सेठी ने मामला दर्ज कराया. हालांकि कोयना ने खुद पर लगे इल्जाम को गलत बतलाया था और कहा था कि सेठी के पास उधार देने की क्षमता ही नहीं थी. सेठी ने उनके चेक्स चुरा लिए थे.

सुनवाई के दौरान कोयना के पहले तर्क को मजिस्ट्रेट ने मानने से मना कर दिया और दूसरे तर्क पर पाया कि कोयना ये बात साबित ही नहीं कर पाईं कि सेठी ने उनके चेक चुराए थे. कोर्ट ने कहा कि कोयना ने खुद को मिले नोटिस के जवाब में ये बात नहीं बताई और ना ही उन्होंने इसके बारे में आगे एक्शन लिया.

जानिए आखिरकार कंप्यूटर के keyBoard में सारे अक्षर क्रम , रिसर्च में हुआ खुलासा…

कोर्ट ने कहा, ‘चेक इस बात पर बाउंस नहीं हुआ कि पैसे देने वाले ने दिए नहीं, ये इस बात पर बाउंस हुआ कि पैसे अकाउंट में है ही नहीं. अगर ये मान भी लिया जाए कि शिकायतकर्ता ने आरोपी के चेक, जो कि ब्लैंक थे, को उसके घर से चुरा लिया था और उनका गलत इस्तेमाल किया. तो भी आरोपी के पास इस पेमेंट को रोकने का पूरा मौका था. लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया.’

कोयना ने इस मामले पर मुंबई मिरर से कहा, “ये केस एकदम झूठा है और मुझे फंसाया जा रहा है. कोर्ट में मेरे वकील मौजूद नहीं थे, इसलिए मेरी बात को बिना सुने ही फैसला सुना दिया गया. हम कोर्ट की जजमेंट को चैलेंज करेंगे, मेरे वकील इसपर काम कर रहे हैं.”

=>
LIVE TV