Tuesday , March 28 2017

भारतीय सेना की दिलेरी ने खाक कर दिए आतंकियों के सबसे खतरनाक मंसूबे

बीएसएफजम्मू : बीएसएफ की ओर से तीनों घुसपैठियों को मार गिराने के एक दिन बाद शीर्ष अधिकारी ने सीमा पार से आए हथियारबंद आतंकवादियों के खतरनाक मंसूबों का खुलासा किया है।

बीएसएफ के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) और विशेष महानिदेशक (पश्चिमी कमान) अरुण कुमार ने बताया, “सांबा जिले में सीमा सुरक्षा बल द्वारा मारे गए तीन आतंकवादी चलती ट्रेनों को उड़ाने की साजिश के तहत आए थे”।

उन्होंने बताया “आतंकी चलती ट्रेनों और पटरियों को आईईडी और तरल विस्फोटकों, जिसे पकड़ना मुश्किल रहता है, से उड़ाकर सिलसिलेवार बम धमाकों को अंजाम देने के लिए जम्मू-कश्मीर में घुसे थे। तीनों आतंकवादी तरल विस्फोटक ‘ट्राईनाइट्रोग्लिसरीन’ की पांच बोतलें लेकर आए थे”।

बीएसएफ के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) और विशेष महानिदेशक (पश्चिमी कमान) अरुण कुमार ने बताया, ‘‘बड़ी वारदातों को अंजाम देने के लिए आतंकवादियों ने घुसपैठ की थी। रेल की पटरियों और ट्रेनों को धमाके से उनका मकसद उड़ाना। आईईडी और तरल विस्फोटक बरामद हुए हैं।”

अधिकारी ने आज कहा कि उन्होंने बताया कि कई बड़ी आतंकवादी वारदातों को अंजाम देने के लिए घुसपैठिए आए थे, जिसमें चलती ट्रेनो को धमाके में उड़ाना भी शामिल था।

उन्होंने बताया, ‘‘यदि हमारे जवानों ने इन हथियारबंद आतंकवादियों को काबू नहीं किया होता और उन्हें नहीं मार गिराया होता तो इससे मुख्य इलाके में बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ होता। बीएसएफ के बहुस्तरीय सुरक्षा कवर के कारण ही यह आपदा टल सकी।”

LIVE TV