Saturday , April 29 2017

फिशिंग वेबसाइटों ने 26 भारतीय बैंकों से चुराई सूचनाएं

नई दिल्ली| अमेरिका स्थित साइबर सुरक्षा कंपनी फायरआई के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि साइबर अपराधियों द्वारा बनाई गई दुर्भावनापूर्ण फिशिंग वेबसाइटों ने 26 भारतीय बैंकों से उनके ग्राहकों की महत्वपूर्ण सूचनाएं चुरा ली हैं।

फिशिंग वेबसाइटों ने चुराई सूचनाएं

कंपनी ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि फायरआई ने एक नए डोमिन (सीसिक्योरपे डॉट कॉम) की पहचान की, जो इस साल 23 अक्टूबर को पंजीकृत हुआ और खुद को ऑनलाइन पेमेंट गेटवे के रूप में प्रदर्शित किया, लेकिन वास्तव में यह एक फिशिंग वेबसाइट थी, जिसने देश के 26 बैंकों के ग्राहकों की सूचनाएं इकट्ठा कर ली हैं, जिनमें एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक और भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक शामिल हैं।

फायरआई के वरिष्ठ निदेशक (भारत और दक्षेस) विशक रमन ने कहा, “अपराधी पैसे के पीछे भागते हैं और ज्यादा से ज्यादा भारतीय ऑनलाइन बैंकिंग का प्रयोग कर रहे हैं। इसलिए अपराधी उनका ऑनलाइन पीछा कर रहे हैं। उपभोक्ताओं को सुविधा के साथ जोखिमों का भी पता होना चाहिए।”

फायरआई के शोधकर्ताओं ने बताया कि एक-दूसरा डोमिन (एनसिक्योर पे डॉट कॉम) को भी इसी हमलावर ने अगस्त 2016 में पंजीकृत कराया था और इसके जरिए क्रेडिट और डेबिट कार्ड की सूचनाएं चुराई थी, जिनमें आईसीआईसीआई, सिटीबैंक, वीजा और मास्टरकार्ड तथा एसबीआई डेबिट कार्ड समेत अन्य बैंकों के कार्ड शामिल थे।

फायरआई ने बताया कि उसने इंडियन कंप्यूटर रेसपोंस टीम (सीइआरटी-इन) को इसकी सूचना दे दी है, जो भारत सरकार के सूचना व प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत काम करती है।

LIVE TV