21 दिन के लॉकडाउन पर क्या बोले प्रशांत किशोर जानें…

 

प्रशांत किशोर में देश में लागू लॉकडाउन की आलोचना की है। उनका कहना है कि लॉकडाउन का फैसला ठीक हो सकता है लेकिन यह वक्त बहुत ज्यादा है। अगर कोरोना वायरस से लड़ने के उपाय की बात करें उनका कहना है कि  सरकार ने अच्छा कदम उठाया है लेकिन काफी लंबा कदम है यह।

प्रशांत किशोर ने बुधवार को ट्वीट में लॉकडाउन फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि लॉकडाउन का फैसला सही हो सकता है, लेकिन 21 दिन बहुत ज्यादा हैं. उन्होंने पूछा कि क्या 21 दिन लॉकडाउन करने का कोई वैज्ञानिक प्रमाण है, जिससे कोरोना के खिलाफ जंग जीती जा सके? उन्होंने कहा कि बिना जांच, आइसोलेशन और चिकित्सा के कोरोना को कैसे रोका जा सकेगा. प्रशांत ने कहा कि लॉकडाउन से लक्ष्य हासिल होगा कि नहीं यह तो पता नहीं पर इससे लोगों की जिंदगी और रोजरोटी जरूर बर्बाद हो जाएगी.

कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए मोदी सरकार ने 1,50,00,00,00,00,000 रुपये के पैकेज का किया ऐलान…

जदयू के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर प्रहार करते हुए कहा, ‘दिल्ली और अन्य कई जगहों पर बिहार के सैकड़ों गरीब लोग लॉकडाउन की वजह से फंसे हुए हैं. नीतीश कुमार जी जब दुनिया भर की सरकारें अपने लोगों की मदद कर रही हैं, बिहार सरकार इनलोगों को इनके घरों तक पहुंचाने अथवा जहां ये लोग हैं वहीं कुछ फ़ौरी राहत की व्यवस्था क्यों नहीं कर रही.’

=>
LIVE TV