पाकिस्तानी हैकर ने किया है कुछ ऐसा, जानकर आ गए भारतीय नेताओं को पसीने…

भारत और पाकिस्तान एक बार फिर राजनयिकों के साथ होने वाले बर्ताव को लेकर आमने-सामने आ गए हैं। इस मसले को जानने वाले लोगों का कहना है कि पाकिस्तान के सुरक्षा अधिकारियों ने भारतीय दूत और उनके डिप्टी के साथ इस्लामाबाद में उग्र व्यवहार किया।

पाकिस्तान में स्थित भारतीय उच्चायोग ने पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय में एक पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारी के खिलाफ दूत के साथ गलत व्यवहार और उसके सोशल मीडिया अकाउंट को हैक करने की कोशिश को लेकर 10 जनवरी को औपचारिक शिकायत दर्ज कराई थी।

भारतीय दूतावास पिछले महीने दो बार पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के पास औपचारिक शिकायत कर चुका है। पिछले महीने पाकिस्तान में दूसरे सचिव (सेकेंड सेक्रेटरी) के घर की बिजली को काट दिया गया था।

रविवार को दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग ने भारत के सामने विरोध दर्ज करवाया था क्योंकि उसके एक अधिकारी से घंटो पुलिस स्टेशन में पूछताछ हुई थी। महिला ने अधिकारी पर बाजार में उसे गलत तरीके से छूने का आरोप लगाया था।

पाकिस्तान के अधिकारी ने सरोजिनी नगर मार्केट में महिला को कथित तौर पर गलत तरीके से छुआ था। जिसकी उसने पास के थाने में शिकायत की थी। महिला के अनुसार उस अधिकारी ने बाजार में उसे गलत तरीके से छुआ था।

वहीं कर्मचारी का कहना है कि बाजार में भारी भीड़ होने की वजह से गलती से उसका हाथ महिला को छू गया था। हालांकि अधिकारी ने लिखित तौर पर माफी मांग ली थी। जिससे यह मामला बंद हो गया था।

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने पाकिस्तानी अधिकारी को हिरासत में लेने की बात से इंकार किया है।

भारत ने पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के सामने दर्ज कराए गए अपने विरोध में कहा है कि पाकिस्तान के एक सुरक्षाधिकारी ने भारतीय उच्चायुक्त और डिप्टी हाईकमीश्नर का पीछा किया और उनपर कड़ी नजर रखी जब वह एक शादी के रिसेप्शन में हिस्सा लेने के लिए 4 दिसंबर को होटल पहुंचे थे।

आज मकर संक्रांति पर कर लें ये जरूरी काम, मिट जाएंगे सारे कष्ट…

भारतीय पक्ष ने दूसरे सचिव (सेकेंड सेक्रेटरी) के सोशल मीडिया अकाउंट को हैक करने की कोशिशों के बारे में भी शिकायत की है।

सेकेंड सेक्रेटरी के एक रिश्तेदार के अकाउंट को भी हैक करने की कोशिश हुई हैं। वहीं सेक्रेटरी को फेसबुक से कई ईमेल मिले है कि कोई अज्ञात शख्स उनके अकाउंट को लगातर लॉग इन करने की कोशिश कर रहा है।

भारत का कहना है कि इस तरह की कोशिशें आक्रामक निगरानी, गोपनीयता और उत्पीड़न का उल्लंघन हैं।

=>
LIVE TV