पहली बार आंबेडकर की जयंती मनाएगा संयुक्त राष्ट्र…

एजेन्सी/ambedkar_552e79c5b6a08संयुक्त राष्ट्र : संयुक्त राष्ट्र में पहली बार भारतीय संविधान के रचयिता भारत रत्न बाबा साहेब डाॅ. भीमराव आंबेडकर की जयंती मनाई जा रही है। इस हेतु विकास का लक्ष्य हासिल करने हेतु असमानताओं से लड़ने पर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन व कल्पना सरोज फाउंडेशन के ही साथ फाउंडेशन फाॅर ह्यूमन होराइजन के सहयोग से आंबेडकर की जयंती से एक दिन पूर्व 13 अप्रैल को संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में 125 वीं जयंती मनाएगी। इस अवसर पर सतत विकास लक्ष्यों को अर्जित करने हेतु असमानताओं से लड़ाई विषय पर पैनल चर्चा का आयोजन किया जा रहा है। 

दरअसल संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन द्वारा ट्विट कर लिखा गया है। इस दौरान कहा गया है कि पहली बार संयुक्त राष्ट्र में बाबा साहब की जयंती मनाई जाएगी। इस हेतु सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने हेतु असमानताओं से लडने हेतु ध्यान दिए जाने की जरूरत है।

दरअसल आंबेडकर करोड़ों भारतीयों और विश्वभर में समानता और सामाजिक न्याय के समर्थकों हेतु यह प्रेरणाप्रद बना हुआ है। यह भी कहा गया है कि इस मामले में यह एक संयोग है कि गरीबी, भूखमरी, सामाजिक – आर्थिक असमानता के 2030 तक की समाप्ति हेतु संयुक्त राष्ट्र महासभा की ओर से सतत विकास लक्ष्यों में बाबा साहेब के दृष्टिकोण को जाना जा सकता है। दरअसल आंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को हुआ। उनका निधन 1956 को हुआ। 

=>
LIVE TV