पेड़, पौधों, पुष्पों और पेड़ों की जड़ों से इस तरह पाए जीवन की अनेक परेशानियों से मुक्ति

आजकल हर एक व्यक्ति किसी न किसी ग्रह दोष से ग्रस्त है। इन दोषों को दूर करने के लिए कोई न कोई उपाय भी बताया गया है। ज्योतिष के अनुसार, हिंदू धर्म में पेड़ों को पूजनीय माना गया है और इसका कारण भी है, क्योंकि अनेक पेड़, पौधों, पुष्पों और पेड़ों की जड़ों में विभिन्न देवताओं और ग्रहों का वास माना गया है और उनके जरिए जीवन की अनेक परेशानियों, कष्टों से मुक्ति पाई जा सकती है। इसे वट वृक्ष या बड़ का पेड़ कहते हैं और इसमें देवताओं का वास मानते हुए इसे पूजा जाता है।

पेड़, पौधों, पुष्पों और पेड़ों की जड़ों से इस तरह पाए जीवन की अनेक परेशानियों से मुक्ति
बरगद पेड़ के कुछ फायदें…

अपनी टीम के प्रदर्शन को लेकर ऐसी राय रखते हैं कोहली

ग्रहों की शांति : इस पेड़ की जड़ ग्रहों की शांति करने जैसे कार्य में बहुत काम आती है और इसकी जड़ कितनी चमत्कारिक रूप से लाभ पहुंचाती है यह बहुत कम लोग जानते हैं।

ज्योतिष के अनुसार बरगद के वृक्ष पर मंगल का आधिपत्य होता है और इस कारण से मंगल ग्रह की शांति के लिए बरगद की जड़ धारण करने का विधान है।

अगर कोई जातक वट वृक्ष की जड़ को धारण करता है तो उसकी जन्मकुंडली में मंगल से जुड़े समस्त दोष समाप्त हो जाते हैं।

गर्मियों में ऑयल स्किन से ऐसे पाएं छुटकारा, अपनाएं ये घरेलू उपाय

मांगलिक दोष के कारण किसी जातक के विवाह में बाधा आ रही हो तो वट वृक्ष की जड़ से मंगल दोष की शांति होती है।

भूमि, भवन, संपत्ति संबंधी कार्यों में रूकावट आ रही हो तो वट वृक्ष की जड़ धारण करें और वट वृक्ष की जड़ कर्जमुक्ति करवाने का प्रमुख मार्ग है।

=>
LIVE TV