पत्नी को चाकू से गोदकर खुद को मार ‌ल‌िया चाकू

knife_landscape_1459150134एजेन्सी/बाराबंकी के फतेहपुर इलाके में ससुराल में एक व्यक्ति ने शनिवार रात विवाद के दौरान बीमार पत्नी को चाकू से मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। इसके बाद अपने पेट में चाकू घोंपकर जान दे दी। गंभीर रूप से घायल महिला को इलाज के लिए लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर भेजा गया है। पुलिस घटना की छानबीन कर रही है।

शहर कोतवाली क्षेत्र में बडे़ल निवासी शरीफ  (45) का विवाह करीब आठ वर्ष पूर्व फतेहपुर के ग्राम कटघरा निवासी मोहम्मद रईस की पुत्री शाहीन से हुआ था। बीमारी से ग्रसित शाहीन करीब दो महीने से मायके में रह कर इलाज करा रही थी। 

पुलिस की मानें तो आठ दिन पूर्व शरीफ अपनी पत्नी का हालचाल लेने ससुराल गया था। शनिवार को शरीफ अपनी पत्नी, बच्चों व परिवार के अन्य सदस्यों के साथ खाना खाने के बाद घर के आगंन में लेट गया। 

देर रात चीख सुनकर परिवार के लोग जग गए। उन्होंने देखा कि शरीफ  अपनी पत्नी शाहीन पर चाकू से हमला कर रहा था। यह देख परिवारीजनों ने शोर मचाया। इस बीच शरीफ  ने अपने पेट में चाकू घोंप लिया।दोनों को खून से लथपथ देख चीख पुकार मच गई। इस दौरान आसपास के लोग एकत्र हो गए लेकिन तब तक शरीफ  की मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल शाहीन को परिवारीजनों ने सीएचसी पहुंचाया जहां से डॉक्टरों ने उसे ट्रॉमा सेंटर, लखनऊ रेफर कर दिया है। 

सूचना पर पहुंची पुलिस छानबीन कर रही है। मौक से घटना में इस्तेमाल चाकू बरामद किया है। पूछताछ में पता चला कि शरीफ  मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करता था। पत्नी शाहीन करीब दो वर्ष से बीमार थी जिससे शरीफ काफी परेशान रहता था। 

पत्नी के इलाज में काफी रुपये खर्च करने के बाद भी वह ठीक नहीं हो सकी। इसी बात को लेकर शरीफ व उसकी पत्नी के बीच विवाद होता था। स्थानीय लोगों का मानना कि पत्नी के इलाज से परेशान होकर शरीफ  ने यह कदम उठाया। 

घटना के समय छप्परनुमा घर में अन्य परिवारीजनों के साथ शरीफ बेटियां नौशीदह व तस्लीम और बेटा शोएब मौजूद था। नौशीदह का कहना है कि मां को जब उसके पिता मार रहे थे तब वह जग गई। शरीफ  ने बेटी को सो जाने के लिए कहा। इसके बाद घटना हुई। 

=>
LIVE TV