तुर्की को भारत की खरी-खरी, ऐसे बयानों से रहें दूर…  

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने कश्मीर का मुद्दा एक बार फिर उठाया है। इस मसले पर तुर्की का पाकिस्तान को सर्मथन करने की कड़ी प्रतिक्रिया की। तुर्की के राष्ट्रपति के एक बयान का भारतीय विदेश मंत्रालय ने करारा जवाब दिया। राष्ट्रपति के बयान पर भारत के विदेश मंत्रालय ने खारिज कर दिया। विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह भारत के आंतरिक मामले से दूर रहें।

तुर्की को भारत

इससे पहले पाकिस्तान पहुंचे तुर्की के राष्‍ट्रपति ने कहा था, ‘कश्‍मीर का मामला संघर्ष या दमन से नहीं सुलझाया जा सकता, बल्कि न्याय और निष्पक्षता के आधार पर सुलझाना होगा. जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने को लेकर तुर्की के राष्‍ट्रपति ने कहा था, ”हमारे कश्मीरी भाइयों-बहनों ने दशकों तक परेशानियां झेली हैं और हाल में लिए गए एकपक्षीय कदमों से समस्याएं और बढ़ गई हैं.’

एर्दोगान ने कहा, कश्मीर में जुल्म हो रहा है तो वह चुप नहीं बैठेंगे. कोई जमीन पर खींची हुई सीमा इस्लाम मानने वालों को बांट नहीं सकती हैं. उन्होंने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को कश्मीर मुद्दे पर बिना शर्त समर्थन देने का वादा कर डाला. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भी निशाना बनाते हुए तुर्की के राष्‍ट्रपति ने कहा, मध्य-पूर्व में अमेरिका की शांति योजना आक्रमणकारी नीयत है. जहां भी मुसलमान मारे जा रहे हैं वहां मुस्लिम देशों को एकजुट होने की जरूरत है.

आतंकवाद के पनाहगार पाकिस्‍तान को पीड़ित बताते हुए तुर्की के राष्‍ट्रपति ने कहा, फाइनेन्सियल एक्शन टास्क फोर्स ( FATF ) की बैठक में भी वे बिना शर्त पाकिस्तान का समर्थन करेंगे. तुर्की के राष्ट्रपति ने पाकिस्तान को अपना दूसरा घर भी बता दिया. एर्दोगान ने कहा कि आपका दर्द मेरा दर्द है. हमारी दोस्ती प्यार और सम्मान पर आधारित है. पाकिस्तान तरक्की की तरफ है और ये कुछ दिनों में नहीं हो सकता. इसमें वक्त लगेगा और तुर्की इसमें सहयोग करता रहेगा.

भारतीय सैन्य बेड़े में शामिल होगा ये खतरनाक स्टील्थ ड्रोन, अमेरिका से होगा करार

आतंकवाद को पनाह देने वाले तुर्की के राष्ट्रपति ने एक बयान दिया कि FATF की बैठक  बिना किसी रोक टूक के पाक का साथ देने की बात कही। एर्दोगान ने कहा कि आपका दर्द मेरा दर्द है। हमारी दोस्त प्यार और सम्मान पर आधारित है।

हम पाक की हर संभव कोशिश करते हैं। तुर्की इस बात में पाक का हमेशा साथ देगा।

भारत ने कहा, हम तुर्की नेतृत्व से अनुरोध करते हैं कि वह भारत के लिए पाकिस्तान परस्‍त आतंकवाद सहित अन्‍य बातों को लेकर अपनी समझ विकसित करे.

=>
LIVE TV