तहसील दिवस बना मज़ाक

hqdefault (1)उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ के अधिकारीयों ने तहसील दिवस को बनाया मजाक दिवस । तहसील दिवस में अधिकारी चला रहे है whatsapp । अधिकारीयों को ये भी नहीं पता तहसील दिवस में एक मासूम बच्चा मांग रहा है भीख । क्या शिकायत कर्ताओं की ऐसे ही सुनी जायेगी फ़रयाद । कहीं सपा सरकार को आने वाले 2017 के चुनाव में इसका खामियाजा न भुगतना पड़े ।

आप को बता दें की प्रदेश के मुख्यमंत्री ने आमजन की समस्याओं को गम्भीरता से सुनने के लिए मंगल दिवस,तहसील दिवस,थाना दिवस आदि का आयोजन कर लोगों की समस्याओं के समाधान करने की कवायद की जा रही है तो वहीँ आज हापुड़ में तहसील दिवस का आयोजन किया गया इस तहसील दिवस में जहां डीएम,सीडीओ, लोगों की समस्याओं को गम्भीरता से सुन रहे थे तो और अधिकारीयों को चार घंटे तहसील दिवस में बैठना मुश्किल हो रहा था अधिकारी अपना समय काटने के लिए whatsapp चला रहे थे ।

कोई फ़िल्म देख रहा था कोई मेसेज कर रहा था । जहां मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए सख्त आदेश दिए हुए है क्या इस तरह होगा लोगों को समस्याओं का समाधान ।
वहीँ अधिकारीयों को ये तक नहीं पता के तहसील दिवस में एक मासूम भीख भी मांग रहा है ।वही जब इस मामले में आलाधिकारियों से बात करनी चाहि तो उन्होंने मिलने तक से मना कर दिया ।

=>
LIVE TV