छत्तीसगढ़ में ACB की कार्यवाई, लाखों रूपये बरामद

Money_56e1050882a1cएजेंसी/ रायपुर : शासकीय अधिकारियों के यहां एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा छापामार कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई में किस अधिकारी के यहां से लाखों की नकदी बरामद हुई तो किसी के यहां से स्कूल, काॅलेज से जुड़े दस्तावेज बरामद हुए तो कुछ के पास से सोने-चांदी के जेवरात मिले। दरअसल ये छापे दो शिक्षकों और खाद्य विभाग के एक अधिकारी के यहां मारे गए।

इस छापामार कार्रवाई में यह अधिकारी करोड़ों का आसामी निकला। यही नहीं एक अन्य अधिकारी जो कि सिंचाई विभाग में एसडीओ है उसके यहां भी लाखों के नकदी मिले। इस अधिकारी की पहचान बैकुंठपुर के एसडीओ सिंचाई एसएल गुप्ता के तौर पर हुई। फूड आॅफिसर के घर दो पैट्रोल पंप समेत कई जमीनों, मकान के कागजात के तौर पर मिले।

जिला पंचायत में परियोजना अधिकारी के तौर पर काम करने वाले एक अधिकारी के यहां से भी महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं। उल्लेखनीय है कि यह अधिकारी एक लेक्चचर हैं जिन्हें जिला पंचायत में अटैच कर दिया गया है। रायगढ़ के वर्तमान जिला शिक्षा अधिकारी के घर करोड़ों की संपत्ति मिली यही नहीं एंटीकरप्शन ब्यूरो के दलों ने राजस्व काॅलोनी में रहने वाले एनके द्विवेदी, सरकंडा जबड़ापारा निवासी आनंद पांडेय और तारबाहर, इंदिरा काॅलोनी निवासी गुलाम मोहम्मद के मकानों को घेर लिया गया।

इन अधिकारियों कर्मचारियों के पास भी अनुपातहीन संपत्ति मिली है। श्री द्विवेदी राजीव गांधी शिक्षा मिशन के जिला समन्वयक, मल्टीपरपज स्कूल के प्रिंसिपल जैसे पदों पर भी रहे हैं। वे रायगढ़ में जिला शिक्षा अधिकारी हैं शिक्षा विभाग में लेक्चरर आनंद पांडेय बीते 18 वर्ष से जिला पंचायत में प्रतिनियुक्ति पर परियोजना अधिकारी भी रहे हैं। वे अभी भी परियोजना अधिकारी ही हैं। दरअसल उनकी अटैच मेंट के पीछे पोलिटिकल एप्रोच मानी जा रही हैै।

=>
LIVE TV