चीन पर लगाया गया 1500 से ज्यादा वायरस रखने का आरोप, जानें पीछे का सच…

चीन  से निकले कोरोना वायरस  ने पूरी दुनिया में कहर बरपा रखा है. अब तक 22 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. यह वायरस चीन की ही एक गलती का नतीजा बताया जा रहा है. जैसे जैसे इस वायरस के होने वाली मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है, चीन को दुनियाभर में आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है.

चीन  से निकले कोरोना वायरस

हाल ही में अमेरिका ने कोरोना वायरस को ‘चाइनीज’ और ‘वुहान वायरस’ बता डाला. भारत ने भी चीन पर हमला तेज कर दिया है. बीजेपी के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने चीन के सरकारी अखबार डेली मेल का एक ट्वीट शेयर किया है. जिसके मुताबिक हुबेई में 1500 से ज्यादा वायरस स्ट्रेन एक वायरस बैंक में रखे गए थे.

राकेश सिन्हा ने ट्वीट के जरिए चीन पर आरोप लगाया है कि उसने ही पूरी दुनिया को संकट में डाला है. राकेश सिन्हा ने ट्वीट किया कि ‘जिस डॉक्टर ने कोरोना के बारे में देश-दुनिया को सबसे पहले बताया उसे मार डाला. राक्षसी तरीके से कोरोना को कथित रूप से नियंत्रित किया और अब दुनियाभर, जिसमें भारत अपवाद नहीं है ,चीन की ‘कृतज्ञता’ से दबे लोग उसकी इमेज ठीक करने में लगे हैं.’

ये घरेलु उपाय आपको घुंघराले बालों को कर देंगे चुटकी में स्ट्रेट, नहीं खर्च करने पड़ेंगे पार्लर में पैसे…

दरअसल राकेश सिन्हा ने ट्वीट शेयर किया है वो 2018 का है. इस उस ट्वीट में चीन ने दावा किया कि वुहान शहर में उसके पास एशिया की सबसे बड़ी वायरस बैंक मौजूद है. इस वायरस बैंक में 1500 से ज्यादा वायरस स्ट्रेन रखे गए हैं. यह पहली बार नहीं है जब चीन पर इस तरह के आरोप लगे हैं. इससे पहले भी चीन पर इन्फेक्शन की जानकारी को दबाने के आरोप लग चुके हैं. चीन पर शक इस बात को लेकर भी है कि क्योंकि सबसे पहले इसकी सूचना देने वाले डॉक्टर वेनियांग की भी रहस्यमय तरीके से मौत हो गई.

=>
LIVE TV