कोरोना वायरस के बीच आखिर क्या है ये AES , आइए जानें

बिहार। आप सभी को पता है पूरा देश कोरोना वायरस की मार झेल रहा है, ऐसे में बिहार के ऊपर एक और संकट आ गया है। आपको याद होगा पिछले साल एक के बाद एक बच्चों की मौत हो रही थी। वही डर स्थानील लोगों के दिल में फिर बैठ गया है। ऐसा केवल सोचने से नहीं हुआ है। असल में बीते दिनों मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एईएस पीड़ित एक मरीज भर्ती हुआ। साथ एक चार साल का बच्चा भी इस बीमारी के तहत अस्पताल में भर्ती कराया गया।

शनिवार को भी पूर्वी चंपारण से एईएस का एक संदिग्ध मरीज पहुंचा है. एसकेएमसीएच के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ़ गोपाल शंकर सहनी ने शनिवार को बताया कि मरीज का इलाज चल रहा है तथा उसकी स्थिति स्थिर बनी हुई है. उन्होंने बताया कि मरीज में ग्लूकोज की कमी थी, जिसे दूर किया जा रहा है.

उल्लेखनीय है कि पिछले कई वर्षों से गर्मी प्रारंभ होते ही मुजफ्फरपुर, गया सहित राज्य के कई इलाकों में एईएस का प्रकोप प्रारंभ हो जाता है, जिसकी चपेट में आने वाले अधिकांश कम उम्र के बच्चे होते हैं. पिछले वर्ष इस बीमारी से करीब 150 बच्चों की मौत हो गई थी.

=>
LIVE TV