कोरोना को लेकर हो रही लूट पर लगेगी लगाम, प्राइवेट अस्पताल में इलाज की दरें हुई तय

कोरोना काल में आपदा को अवसर में बदलने में लगे कुछ निजी अस्पताल इलाज के नाम पर मनमानी धनराशी वसूल रहे हैं। हालांकि अब इन पर नजर रखने और कार्रवाई करने के लिए कमेटी का गठन कर दिया गया है। वहीं डीएम की ओर से निजी अस्पतालों के लिए अधिकतम शुल्क भी तय कर दिया गया है। यह तय शुल्क शासन की ओर से पहले से निर्धारित की गयी दरों के मुताबिक ही रखें गये हैं। जिसके बाद अब प्रशासन की ओर से इसे कड़ाई से लागू करने की तैयारी की जा रही है।

आपको बता दें कि स्मार्ट सिटी सभागार में इस बाबत डीएम अभिषेक प्रकाश की ओऱ से बैठक की गयी। इश दौरान बताया कि उन्होंने मुकेश मेश्राम के निर्देश पर एक कमेटी गठित की है। इसके बाद अब मरीजों के बिल की तीन प्रतियां निकाली जाएंगी। एक प्रति सीएमओ को भेजी जाएगी। इसी के साथ निर्धारित दरों से अधिक की वसूली पर कानूनी कार्रवाई होगी।

प्रशासन की ओऱ से तय की गयी दरें

  • बीमारी के बढ़ने पर आईसोलेशन बेड जिसमें ऑक्सीजन व अन्य इंतजाम शामिल हों। – 10 हजार रुपये(पीपीई किट सहित)
  • गंभीर मरीज – आईसीयू बिना वेंटिलेटर – 15 हजार(पीपीई किट सहित)
  • बेहद गंभीर मरीज – आईसीयू वेंटिलेटर सहित – 18 हजार(पीपीई किट सहित)
=>
LIVE TV