कानपुर में पी एफ आई के पांच सदस्य गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

कानपुरः कानपुर के बाबूपुरवा इलाके में बाईट 20 दिसंबर को सीएए और एन आर सी के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरन हुई हिंसा में भीड़ ने पथराव , आगजनी और गोलिया चलाई थी जिसमे तीन लोगो की मौत भी हो गई थी | इस हिंसा के पीछे पी एफ आई ( पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया ) का हाँथ होने की पुष्टि हुई थी | आज कानपुर पुलिस ने पी एफ आई के पांच सदस्यों को बाबूपुरवा इलाके से गिरफ्तार किया है |

कानपुर के बाबूपुरवा थाना क्षेत्र के झकरकटी पुल के नीचे से बाबूपुरवा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर की बाबूपुरवा में हुए बबल और हिंसा से सम्बंधित पांच अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया | गिरफ्तार अभियुक्त में मो० उमर , सैयद अब्दुल हई हाशमी।, फैजान मुमताज , मो ० वासिफ और सरवर आलम है |

एस एस पी कानपुर अनंत देव तिवारी ने बताया की सीएए के बाद से कानपुर नगर में जो सी ए ए का विरोध करने के नाम पर 144 का उल्लंघन किया गया , शांति भंग की गई , पथराव और आगजनी की गई फायरिंग की गई जिसमें 3 लोगों की मौत हुई और कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए । इन सब में जो षणयंत्र की भूमिका में और विभिन्न प्रकार योजनाबद्ध तरीके से काम करके यंहा लोगों को भड़काने में पीएफआई की भूमिका सामने आई है ।

जिसके 5 अभियुक्तों को हमने गिरफ्तार करके जेल भेजा है और भी उनसे पूछताछ के आधार पर यहां पर जो पहले से नेटवर्क पीएफआई का रह रहा था जो विभिन्न प्रकार से यहां पर हालात खराब करने में तनाव उत्पन्न करने मैं डायरेक्ट या इनडायरेक्ट भूमिका थी उन सब के बारे में छानबीन की जा रही है ।

इंटर कॉलेज के बाहर छात्राओं और लड़कों के साथ हाथापाई का वीडियो वायरल

आगे और भी इनकी गिरफ्तारियां की जाएंगी । सी एम के दौरे पर एस एस पी के बताया कि सीएम के दौरे की बात अभी स्पष्ट नहीं हुई है की सीएम के दौरे से क्या क्या संबंध था ।लेकिन सीए के बाद यहां पर जो हिंसा हुई जो यहां पर तनावपूर्ण स्थिति उत्पन्न हुई । उसमें उनकी पूरी भूमिका रही है । अभी बहुत सी चीजें विवेचना का विषय है जिनको भी डिस्पोज नहीं किया जा सकता लेकिन इन सब के बारे में छानबीन की जा रही है पूछताछ की जा रही है इनका कहां-कहां नेटवर्क है उन सब के बारे में जानकारी की जा रही है ।

=>
LIVE TV