कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल करेंगे कृषि विधेयकों को लेकर देशव्यापी प्रदर्शन, राष्ट्रपति को सौंपा जाएगा ज्ञापन

जहां एक तरफ कोरोना वायरस महामारी ने पूरे देश में कोहराम मचा रखा है, वहीं दूसरी ओर सोमवार(21 सितंबर 2020) को कृषि विधेयकों का विरोध करने के मुद्दे पर और मुखर होते हुए कांग्रेस ने राष्ट्रव्यापी जनआंदोलन की घोषणा कर दी।कांग्रेस संसद से कृषि विधेयकों को पारित कराने को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ 24 सितंबर 2020 से देशव्यापी आंदोलन शुरू करेगी। इस राष्ट्रव्यापी जनआंदोलन में विरोध मार्च, धरना-प्रदर्शन के साथ ही इन विधेयकों के खिलाफ किसानों और गरीब लोगों के दो करोड़ हस्ताक्षर जुटाना शामिल है।

इतना ही नहीं, इसके बात राष्ट्रपति कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। आपको बता दें, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देशों पर अकबर रोड स्थित पार्टी मुख्यालय में हुई पहली बैठक में यह फैसला लिया गया। इस बैठक को दौरान कांग्रेस महासचिवों के अलावा राज्यों के प्रभारी भी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : 22 सितंबर : भारत और विश्व की कुछ ऐतिहासिक घटनाएं । WORLD ROSE DAY । HISTORICAL EVENTS OF 22 SEPTEMBER

इस बैठक में तीनों कृषि विधेयकों के विरोध का प्रस्ताव भी पारित किया गया। खबरों के मुताबिक, ज्यादातर नेता बैठक में शारीरिक रूप से उपस्थित रहे, लेकिन कुछ नेता जैसे प्रियंका गांधी वाद्रा और जितिन प्रसाद वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शामिल हुए।

=>
LIVE TV