करोड़ों का हाथ, अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकाॅप्टर के साथ

download (15)एजेंसी/ नई दिल्ली : अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकाॅप्टर के सौदे में जिस तरह से राजनीतिक विवाद हो रहा है और इटली के न्यायालय ने भारत के नेताओं को लेकर जो फैसला दिया है उससे माना जा रहा है कि इस डील में बड़े-बड़ों का हाथ है। इस सौदे में यह बात भी सामने आई है कि करीब 53 करोड़ डाॅलर का ठेका प्राप्त करने के लिए कंपनी ने भारतीय अधिकारियों को 100 – 125 करोड रूपए तक की रिश्वत दे दी थी।

इटली के न्यायालय के निर्णय में पूर्व आईएएफ प्रमुख एसपी त्यागी का नाम भी सामने आया। मिली जानकारी के अनुसार भारतीय वायुसेना के लिए 12 वीवीआईपी हेलिकाॅप्टर्स की खरीदी के लिए एंग्लो – इतालवी कंपनी अगस्ता – वेस्टलैंड के ही साथ वर्ष 2010 में होने वाले 3 हजार 600 करोड़ रूपए के अनुबंध को वर्ष 2014 में रद्द कर दिया गया।

दरअसल पूरे एग्रीमेंट को लेकर यह बात सामने आई है कि डील करवाने के लिए 360 करोड़ रूपए का कमीशन भी दिया गया था। भारतीय वायुसेना को दिए जाने वाले 12 डब्ल्यू 101 वीवीआईपी हेलिकाॅप्टर्स की सप्लाय के अनुबंध को सरकार ने रोक दिया था। मगर इसी बीच भारत अपनी ओर से 30 प्रतिशत का भुगतान कर चुका था। इस मामले में फिनमेकानका के पूर्व प्रमुख गुसेप ओर्सी को करीब साढ़े चार वर्ष जेल की सजा दी गई थी।

इटली की रक्षा व अंतरिक्ष अनुसंधान कंपनी ने 3600 करोड़ रूपए में 12 चाॅपर्स का अनुबंध किया था। दरअसल फिनमेकानका और इसकी सब्सीडायरी कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के पूर्व सीईओ बुर्नो स्पागनोलीनी को 4 वर्ष कैद की सजा सुनाई गई थी।

दरअसल दोनों ही करीब 12 हेलिकाॅप्टर्स की बिक्री में हेरफेर के दोषी थे। यही नहीं कंपनियों द्वारा 4250 करोड़ रूपए की रिश्वत के सौदे का फर्जी बिल भी तैयार कर लिया गया। इस घोटाले में वायुसेना के 20 वें एयर चीफ मार्शल एसपी त्यागी का नाम भी लिया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि सीबीआई ने इस मामले में आरोपियों और गवाहों से पूछताछ की थी। पूछताछ के बाद करीब 8 देशों में लेटर आॅफ रोगेटरी भी भेज दिए गए हैं। वहीं 4 देशों इटली, ट्युनीशिया, वर्जिन आईलैंड और ब्रिटेन में भी हेलिकाॅप्टर सौदे को लेकर जानकारी दी गई है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एमके नारायणन से भी पूछताछ की गई है। नारायणन ने अपने जवाब में कहा है कि उन्होंने तो बीती सरकार की नीति ही आगे बढ़ाई है। इस मामले में सुब्रह्मण्यम स्वामी से भी पूछताछ की गई। कांग्रेस के कुछ नेताओं से भी पूछताछ किए जाने की संभावना है।

=>
LIVE TV