एक नई मिसाल! सड़क पर घूमते भूखे आवारा कुत्ते को माला दे रही हैं सहारा…

कहा जाता हैं की पालतू कुत्ते से ज्यादा कोई वफादार नही होता हैं।  जहां देखा जाये तो जो लोग कुत्ता पालते हैं वो लोग अपने कुत्तों की बड़ी अच्छे से देखभाल करते हैं। वहीं क्या कभी अपने सोचा हैं की जो सड़कों पर आवारा कुत्ते हैं उनकी देखभाल कोई इन्सान क्यों नही करता हैं। आखिर क्यों नहीं उनका कोई ख्याल रखता हैं।

 

 

बतादे की पालतू डॉगी की देखभाल पर लोग हजारों खर्च कर देते हैं, लेकिन बात सड़कों पर घूमने वाले आवारा कुत्तों की आई तो ज्यादातर लोग नाकभौं सिकोड़ लेते हैं। न इन्हें कोई हाथ लगाना चाहता है और न कोई इनकी तरफ देखना। हां, ज्योतिषी काले कुत्ते को रोटी खिलाने को बोले तो बात अलग है, लेकिन ऐसा नहीं है कि सभी शहरी ऐसे हैं।
जहां इन्हीं में से एक नाम है नेशविला रोड निवासी माला मल्होत्रा। माला कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं, लेकिन वे रील लाइफ के बाद अब रियल लाइफ में भी असली हीरो बन गई हैं।
वहीं एक अभिनेत्री से ज्यादा उनकी पहचान अब पशुप्रेमी के रूप में होती है। सड़क का हर आवारा कुत्ते को उनके घर में आसरा मिलता है। फिलहाल ऐसे 62 कुत्ते इनके परिवार के सदस्य हैं। माला इनके लिए हर वो काम करती हैं, जो लोग अपने प्यारे डॉगी के लिए करते हैं।

सड़कों पर घूमने वाले बीमार व भूखे आवारा कुत्तों के लिए माला ने अपने घर में खास व्यवस्था की है। यहां उनके खाने-पीने, रहने व उपचार का पूरा इंतजाम है। माला अपना ज्यादातर समय इन्हीं बेजुबानों की देखरेख में बिताती हैं। इन बेसहारा कुत्तों के प्रति उनका प्यार देखते ही बनता है।

माला ने बताया कि वह एनिमल बर्थ कंट्रोल के लिए भी काम करती हैं। वे कहती हैं कि यदि पशुओं की संख्या में नियंत्रण पा लिया जाए तो इससे आधी समस्या वैसे ही दूर हो जाएगी। इसके लिए वह फीमेल डॉग्स की नसबंदी कराती हैं। इसमें आने वाला समस्त खर्च वह स्वयं वहन करती हैं।
दरअसल माला मल्होत्रा बॉलीवुड की भांगओवर, रागदेश में अभिनय कर चुकी हैं। इसके अलावा माला ने ‘कुछ करिए’, ‘रजवाड़े’, ‘द पास्ट’ में भी अभिनय किया है। वहीं, माला मल्होत्रा पंजाबी एल्बम व मूवी में भी जलवा बिखेर चुकी हैं। माला ने कहा कि कई एल्बम व फिल्मों के ऑफर वह डॉग्स की केयर के कारण ठुकरा देती हैं।
=>
LIVE TV