आपसी विवाद में सर्विस रिवाल्वर से गोली चलने वाला दरोगा लखनऊ में गिरफ्तार

रिपोर्ट-सैय्यद अबू तलहा/लखनऊ   

लखनऊ की कानून व्यस्था संभाल रहे पुलिस कर्मियों की लापरवाही का नतीजा बीती रात मड़ियांव थाना क्षेत्र के सिमरा गौरी इलाके में देखने को मिला। जहां प्रतापगढ़ में तैनात अमित कुमार नाम के दरोगा ने नाली और स्ट्रीट लाइट के विवाद में अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली चला दी।

इस घटना में ज्योति नाम की युवती सहित अजय कुमार यादव और शब्बीर भी घायल हो गए। दरोगा की चलाई गोली जहाँ शब्बीर के हाथ मे लगी तो वही अजय और ज्योति भी मामूली रूप से घायल हो गए । फिलहाल मड़ियांव पुलिस ने दरोगा को हिरासत में लेकर सर्विस रिवाल्वर को जब्त कर लिया है तो वही घायलों को इलाज के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल भेज दिया है।

घटना के बाद आक्रोशित स्थानीय लोगों ने दरोगा की मोटरसाइकिल में आग लगा दी जिससेे दरोगा की मोटरसाइकिल जलकर खाक हो गई मौके पर मौजूद पुलिस ने स्थानीय लोगों को समझा बुझाकर कर मामला शांत कराया।।

दरोगा गिरफ्तार

मामला यूपी की राजधानी लखनऊ के मड़ियांव में स्थित सिमरा गौरी इलाके का है जहां स्थानीय पुलिस की लापरवाही का खामियाजा 1 दरोगा और 1 युवती सहित 2 अन्य लोगो को भुगतना पड़ गया।  दरअसल मड़ियांव इलाके के सिमरा गौरी क्षेत्र में अमित कुमार नाम का एक दरोगा रहता है जो प्रतापगढ़ के सदर कोतवाली में तैनात है।

मोहल्ले के लोगो से दरोगा की माँ से एक स्ट्रीट लाइट को लेकर मंगलवार को विवाद हो गया जिसके बाद पीड़ित पक्ष और दोरोग कि माँ ने मड़ियांव थाने में तहरीर दी लेकिन इलाके के चौकी इंचार्ज ने मामले को टालते हुए दोनों पक्षो समझा बुझा के चलता कर दिया।

लेकिन देर रात विवाद एक बार फिर बढ़ा और इलाके के लोगो और दोरोग में कहा सुनी हो गई विवाद इतना बढ़ गया की दरोगा ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली चला दी जो शब्बीर नाम के व्यक्ति के हाथ मे लगी वही मौके पर मौजूद ज्योति और अजय भी घायल हो गए ।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मैके पर पहुची और दरोगा को हिरासत में लेने के साथ सर्विस रिवाल्वर ज़ब्त कर ली और घायलों को अस्पताल भेज दिया।

झाँसी के थानों में को बांटी गयी क्राइम स्कैन प्रोटक्शन किट, करेगी क्राइम की जांच में सहयोग

वही अगर पीड़ित पक्ष की माने तो इस पूरे मामले में दरोगा अपनी वर्दी का नशे में चूर होने के चलते रौब झाड़ता घूमता है। पीड़ित ज्योति का कहना है कि रोड लाइट को लेकर विवाद हुआ था जिसके बाद दरोगा ने शाम को भी रिवॉल्वर तान दिया था।

जिसकी शिकायत थाने में भी की गई थी लेकिन बिठौली चौकी इंचार्ज ने मामले को रफा दफा कर दिया और देर रात दरोगा ने गोली चला दी। पूरे मामले पर स्थानीय पुलिस की बड़ी लापरवाही देखने को मिली स्थानीय पुलिस इस मामले को पहले से गंभीरता से लेती है तो इतनी बड़ी घटना घटित ना होती।

=>
LIVE TV