Thursday , September 21 2017

सपा से अमनमणि त्रिपाठी के टिकट पर असमंजस

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के पूर्व कद्दावर मंत्री व मधुमिता शुक्‍ला हत्‍याकांड में जेल काट रहे अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं लें रही है।

अमनमणि की मुश्किलें

उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव रविवार को अपने एक निजी कार्यक्रम बदायूं पहुंचे। इस दौरान शिवपाल सिंह यादव मीडिया से मुखातिब हुए।

मीडिया से बातचीत में शिवपाल सिंह यादव ने नोटबंदी से लेकर सपा प्रत्याशी अमनमणि त्रिपाठी पर भी चर्चा की। अमनमणि के सवाल पर सपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, पार्टी उनके टिकट पर दोबारा विचार करेगी। गौरतलब है कि, सपा प्रदेश अध्यक्ष शुरू से कहते आ रहे हैं कि, उनकी पार्टी किसी अपराधी छवि वाले को टिकट नहीं देगी। जिसके तहत प्रदेश अध्यक्ष ने कौमी एकता दल का विलय सपा में कराया था।

लेकिन आपराधिक छवि वाले नेता मुख़्तार अंसारी को पार्टी में शामिल नहीं किया गया था। साथ ही 28 नवम्बर को भारत बंद पर उन्होंने कहा कि, वो नोटबंदी के विरोध का समर्थन करते हैं।

गौरतलब है कि नौ जुलाई, 2015 की सुबह अमनमणि गोमतीनगर स्थित आवास से सारा को कार से दिल्ली के लिए लेकर निकला था। फिरोजाबाद में सारा की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। इसके बाद 11 जुलाई, 2015 को सारा की मां सीमा सिंह ने अमनमणि के पिता व पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी पर बेटी की हत्या की साजिश का आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की थी।

सीबीआई ने 25 अक्टूबर को दिल्ली में सारा सिंह की हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी थी। इसी क्रम में अमनमणि को पूछताछ के लिए शुक्रवार को दिल्ली स्थित सीबीआई मुख्यालय बुलाया गया और वहीं गिरफ्तार कर लिया गया था।

=>
LIVE TV