Tag Archives: प्रेरक प्रसंग

प्रेरक प्रसंग: मनुष्य तो सभी हैं लेकिन ऐसे लोग ही हैं असली इंसान

प्रेरक प्रसंग

एक नगर के नजदीक एक होटल था। जिसका मालिक दयालु और सज्जन व्यक्ति था। होटल अच्छी आमदनी देता था। उस सेठ का जीवन सुखी से चल रहा था। परिवार में उसके कोई नहीं था, माता-पिता का देहांत काफी समय पहले हो चुका था। उसका विवाह भी नहीं हुआ था। लालचंद्र ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग

प्रेरक प्रसंग

सफल वही होता है जो लक्ष्य का निर्धारण कर उसपर अडिग रहता है! एक बार की बात है, एक निःसंतान राजा था, वह बूढा हो चुका था और उसे राज्य के लिए एक योग्य उत्तराधिकारी की चिंता सताने लगी थी। योग्य उत्तराधिकारी के खोज के लिए राजा ने पुरे राज्य ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: जाने-अनजाने किए गए पाप की सजा

जाने-अनजाने किए गए पाप की सजा

एक समय एक राजा के दरबार में ब्राह्मणभोज का आयोजन किया गया। बड़ी संख्या में ब्राह्मणों को भोजन के लिए आमंत्रित किया गया और इसके लिए छप्पनभोग महल के खुले आंगन में बनवाए गए। उसी वक्त अनजाने में एक हादसा हो गया। खुले में पक रही रसोई के ऊपर से ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: दान-पुण्य

दान-पुण्य

एक भिखारी सुबह-सुबह भीख मांगने निकला। चलते समय उसने अपनी झोली में जौ के मुट्ठी भर दाने डाल दिए, इस टोटके या अंधविश्वास के कारण कि भिक्षाटन के लिए निकलते समय भिखारी अपनी झोली खाली नहीं रखते। थैली देखकर दूसरों को भी लगता है कि इसे पहले से ही किसी ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : किसी को क्षमा करना जीवन में बेहद जरुरी होता है

किसी को क्षमा करना जीवन में बेहद जरुरी होता है

गोदावरी नदी का तट और उसके नजदीक एकाग्रता पूर्ण तरीके से संत एकनाथ बैठे हुए थे। उनके दर्शन के लिए दूर-दूर से लोग आते थे। वह जिस गांव में रहते थे, वहां एक चबूतरा था। जहां दिनभर संत विरोधियों का जमघट रहता था। एक दिन वहां एक व्यक्ति आया और ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: हमारी सोच

प्रेरक-प्रसंग

एक शहर में एक धनी व्यक्ति रहता था। उसके पास बहुत पैसा था और उसे इस बात पर बहुत घमंड भी था। एक बार किसी कारण से उसकी आँखों में इंफेक्शन हो गया। आँखों में बुरी तरह जलन होती थी। वह डॉक्टर के पास गया लेकिन डॉक्टर उसकी इस बीमारी ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : एक ऐसी कहानी जो बढ़ाएं आपके निर्णय लेने की क्षमता

प्रेरक प्रसंग : एक ऐसी कहानी जो बढ़ाएं आपके निर्णय लेने की क्षमता

बहुत समय पहले हरिशंकर नाम का एक राजा था। उसके तीन पुत्र थे और अपने उन तीनों पुत्रों में से वह किसी एक पुत्र को राजगद्दी सौंपना चाहता था। पर किसे? राजा ने एक तरकीब निकाली और उसने तीनो पुत्रों को बुलाकर कहा – अगर तुम्हारे सामने कोई अपराधी खड़ा ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: जीवन जीने का तरीका

जीवन जीने का तरीका

एक संत ने विश्व-विद्यालय आरंभ किया। इस विद्यालय का प्रमुख उद्देश्य था ऐसे संस्कारी युवक-युवतियों का निर्माण जो समाज के विकास में सहभागी बन सकें। एक दिन उन्होंने अपने विद्यालय में एक वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया। जिसका विषय था – “जीवों पर दया एवं प्राणिमात्र की सेवा।” निर्धारित तिथि ...

Read More »

प्रेरक- प्रसंग: पिंजरे में कैद पंछी

पिंजरे में कैद पंछी

चंद्र प्रकाश के चार साल के बेटे को पंछियों से बेहद प्यार था। वह अपनी जान तक न्योछावर करने को तैयार रहता। ये सभी पंछी उसके घर के आंगन में जब कभी आते तो वह उनसे भरपूर खेलता। उन्हें जी भर कर दाने खिलाता। पेट भर कर जब पंछी उड़ते ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: जज्बा

जज्बा

महात्मा गांधी (बापू) ने सारे भारत का जीवन बनाया और अपने जीवन का अधिक भाग जेल के भीतर बिता दिया। बात तब की है, जब बापू पहरे के अधीन थे, संगीनों के साए में, मनुबेन भी साथ थीं। मनुबेन ने जेल अधीक्षक से एक नोटबुक मंगवाई। बापू ने नोटबुक देखी ...

Read More »
LIVE TV