Tag Archives: प्रेरक प्रसंग

जो सीख बड़े-बूढ़े नहीं दे पाए, वो सीख दे देगी इस बच्चे की कहानी

चंद्र प्रकाश के चार साल के बेटे को पंछियों से बेहद प्यार था। वह अपनी जान तक न्योछावर करने को तैयार रहता। ये सभी पंछी उसके घर के आंगन में जब कभी आते तो वह उनसे भरपूर खेलता। उन्हें जी भर कर दाने खिलाता। पेट भर कर जब पंछी उड़ते ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: चापलूस भला या आलोचक

चापलूस भला या आलोचक

अमेरिका के राष्ट्रपति ने अपने कार्यकाल में रक्षा मंत्रालय का कार्यभार एक ऐसे व्यक्ति को सौंपा जो उनका कटु आलोचक था। वह व्यक्ति लिंकन के विरूद्ध कुछ न कुछ गलत बोला करता था। जब यह बात लिंकन के दोस्त को पता चली तो उन्होंने कहा, ‘क्या आप नहीं जानते कि ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: ‘जीवन का मूल्य

‘जीवन का मूल्य

एक बार भगवान बुद्ध एक गाँव में ठहरे हुए थे | एक आदमी आया और बोला, ” भगवान जीवन का मूल्य क्या है ? मैंने कई बार इसे समझने की कोशिश की पर नहीं समझ पाया | मेरी जिज्ञासा शांत करे |” बुद्ध ने उसे एक चमकता पत्थर दिया और ...

Read More »

इकलौता नियम… जो भगवान को प्रसन्न होने के लिए विवश कर देगा

भगवान

बात उन दिनों की है जब महाराज युधिष्ठिर इंद्रप्रस्थ पर राज्य करते थे। राजा होने के नाते वे काफी दान आदि भी करते थे। उनकी प्रसिद्धि दानवीर के रूप में फैलने लगी और पांडवों को इसका अभिमान होने लगा। कहते हैं कि भगवान दर्पहारी हैं। अपने भक्तों का अभिमान तो ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग – सफल होने का एकमात्र रास्ता!

डेस्कः एक बार की बात है, एक निःसंतान राजा था, वह बूढा हो चुका था और उसे राज्य के लिए एक योग्य उत्तराधिकारी की चिंता सताने लगी थी। योग्य उत्तराधिकारी के खोज के लिए राजा ने पुरे राज्य में ढिंढोरा पिटवाया कि अमुक दिन शाम को जो मुझसे मिलने आएगा, ...

Read More »

राजा के दरबार में पहुंचे पंडित ने दी ये बड़ी सीख, आप भी जानें

राजा के दरबार

एक राजा का दरबार लगा हुआ था। सर्दियों के दिन थे, इसीलिये राजा का दरबार खुले में बैठा था। पूरी आम सभा सुबह की धूप मे बैठी थी।​​महाराज ने सिंहासन के सामने एक मेज रखवा रखी थी। पंडित लोग दीवान आदि सभी दरबार में बैठे थे। राजा के परिवार के ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग : राजकुमार की सूझ-बूझ

राजकुमार की सूझ-बूझ

एक राजा था। वह बेहद न्यायप्रिय, दयालु और विनम्र था। उसके तीन बेटे थे। जब राजा बूढ़ा हुआ तो उसने किसी एक बेटे को राजगद्दी सौंपने का निर्णय किया। इसके लिए उसने तीनों की परीक्षा लेनी चाही। उसने तीनों राजकुमारों को अपने पास बुलाया और कहा, ‘मैं आप तीनों को ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग: अपनी गलती न मानना सबसे बड़ी गलती है

प्रेरक-प्रसंग

गांधीजी के एक अनुयायी थे आनंद स्वामी, जो सदा उनके साथ ही रहा करते थे। एक दिन किसी बात को लेकर उनकी एक व्यक्ति से तू-तू, में-में हो गई। आनंद स्वामी को जब अधिक क्रोध आया तो उन्होंने उसको एक थप्पड़ मार दिया। गांधीजी को आनंद स्वामी की यह हरकत ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग: मनुष्य तो सभी हैं लेकिन ऐसे लोग ही हैं असली इंसान

प्रेरक प्रसंग

एक नगर के नजदीक एक होटल था। जिसका मालिक दयालु और सज्जन व्यक्ति था। होटल अच्छी आमदनी देता था। उस सेठ का जीवन सुखी से चल रहा था। परिवार में उसके कोई नहीं था, माता-पिता का देहांत काफी समय पहले हो चुका था। उसका विवाह भी नहीं हुआ था। लालचंद्र ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग

प्रेरक प्रसंग

सफल वही होता है जो लक्ष्य का निर्धारण कर उसपर अडिग रहता है! एक बार की बात है, एक निःसंतान राजा था, वह बूढा हो चुका था और उसे राज्य के लिए एक योग्य उत्तराधिकारी की चिंता सताने लगी थी। योग्य उत्तराधिकारी के खोज के लिए राजा ने पुरे राज्य ...

Read More »
LIVE TV