#METOO पर सुष्मिता सेन ने कहा, हमें सुनना व विश्वास करना होगा

मुंबई| पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन को यौन शोषण के खिलाफ ‘मी टू’ अभियान के तहत अपने कटु अनुभवों के बारे में बोलने वाली महिलाओं पर गर्व है। उनका कहना है कि अब वक्त आ गया है सुनने का, विश्वास करने का, न्याय होने देने का। सुष्मिता ने यहां रविवार को बांबे टाइम्स फैशन वीक के मौके पर मीडिया से यह बात कही।

sushmita sen

उन्होंने कहा कि वह मी टू अभियान के तहत हो रहे इन खुलासों से हतप्रभ नहीं हैं क्योंकि लोग काफी लंबे समय से इनसे वाकिफ हैं।

ये भी पढ़ें:-मानहानि के मामले से विनता डरने वाली नहीं

सुष्मिता ने कहा, “यह हर दफा हैरान कर देने वाला होने जा रहा है लेकिन हम अनजान लोग भी नहीं हैं। ऐसा नहीं है कि हम भारत या विश्व में हो रही ऐसी चीजों के बारे में नहीं जानते। मुझे लगता है कि जो चीज ज्यादा हैरान कर देने वाली है, वह है कि हमने काफी समय से इन चीजों के बारे में सुना नहीं और इसके बारे में हमने कुछ भी किया नहीं। यह केवल शुरुआत है और आपको सुनना होगा, उस पर विश्वास करना होगा और न्याय की जीत होगी।”

 

भारत में तेजी से बढ़ रहे अभियान और क्या यह सही समय पर हो रहा है, इस पर सुष्मिता ने कहा, “सही समय तब होता है जब महिला पैदा होती है। यह आज या कल के बारे में नहीं है। लेकिन, अगर हमने देर की है तो भी मैं सभी पर गर्व करूंगी।”

sushmita sen

उन्होंने कहा, “और, यह लैंगिक भेदभाव अकेले महिलाओं के लिए नहीं है। मुझे लगता है कि हमारा समाज और हमारे लोग सभी को खुद को व्यक्त करने के लिए खड़ा हुए हैं और एक आवाज बने हैं, यह बहुत शक्तिशाली चीज है। यह मुझे अपनी जिंदगी में देखने को मिला और इससे एक महिला और देश के एक नागरिक के रूप में मुझे गर्व है।”

=>
LIVE TV