शुक्रवार , जुलाई 20 2018

दो भाईयों सहित गंगा में डूबे 6 बच्चे, सर्च ऑपरेशन के बाद बरामद हुई तीन की लाश

रिपोर्ट- राहुल कटियार

कानपुर। बैराज पर घूमने आए बाबूपुरवा के दो सगे भाइयों समेत छह किशोर रविवार शाम गंगा में डूब गए। बचे एक किशोर ने घर पहुंचकर बताया तो हड़कंप मच गया। कोहना व नवाबगंज पुलिस ने गोताखोरों की मदद से तलाश शुरू कराई। देर रात तक तीन छात्रों के शव निकाले गए। बाकी की तलाश में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहा।

गंगा में डूबे बच्चे

आपको बता दें कि बाबूपुरवा स्थित अजीतगंज, पुराना सेंट्रल पार्क व किदवई नगर कालोनियों के रहने वाले सात छात्र अभिषेक उर्फ टइयां (14), अमन (14), साहिबे आलम (15), कैफ उर्फ पुन्ने (12), आदित्य (13), दो सगे भाई अंशु (13), बाबा (12) रविवार दोपहर घरों से निकले थे। वह साइकिलों से बैराज पर घूमने आ गए। बैराज पार कर वह गांव के रास्ते से मुड़कर रेत में आए और गंगा किनारे साइकिल खड़ी करके बैठ गए। साहिबे आलम को छोड़कर बाकी ने अपने कपड़े व चप्पलें उतारीं और गंगा नहाने लगे।

साहिबे आलम ने बताया कि वह गंगा में पैर डालकर किनारे ही बैठा था। इसी दौरान अमन व अभिषेक हाथ पकड़कर गहरे पानी की ओर जाने लगे। तभी दोनों फिसल गए और पानी में समाने लगे। उनकी चीख सुनकर बाकी दोस्तों ने हाथ पकड़कर खींचने की कोशिश की तो वह भी डूबने लगे। साहिबे आलम मदद के लिए चिल्लाता रहा लेकिन वहां कोई नहीं था। वह साइकिल से तुरंत घर पहुंचा और परिजनों को जानकारी दी। साहिबे आलम के साथ परिजन मौके पर आए।

यह भी पढ़े: सीएम योगी ने बनाया मास्टर प्लान, इस योजना के जरिए देंगे दो साल में 2 करोड़ युवाओं को रोजगार

सूचना पर कोहना पुलिस ने आकर गोताखोरों को बुलाकर छात्रों की तलाश शुरू कराई। साहिबे आलम से पूछताछ के बाद बाकी किशोरों के परिजन को सूचना दी। रात करीब आठ बजे अभिषेक का शव निकाला गया। इसके बाद साढ़े नौ बजे अमन व आदित्य का शव मिला। शेष की तलाश में बचाव अभियान जारी था।

=>
LIVE TV