म्यांमार पर दबाव बनाकर रखे यूरोपीय संघ : बांग्लादेशी राष्ट्रपति

बांग्लादेश के राष्ट्रपतिढाका। बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हमीद ने कहा है कि यूरोपीय संघ (ईयू) को म्यांमार पर दबाव बरकरार रखना चाहिए ताकि वह बांग्लादेश भाग कर आए रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस आने दे। राष्ट्रपति के प्रेस सचिव मोहम्मद जैनुलआब्दीन ने बीडीन्यूज 24 डॉट कॉम को बताया कि हमीद ने इस संकट के दौरान समर्थन के लिए यूरोपीय संघ (ईयू) की प्रशंसा की, जब संघ की नई राजदूत रेंस्जे टीरिंक ने मंगलवार को राष्ट्रपति भवन में में अपना परिचय पत्र दर्ज कराया।

पाकिस्तान में बम विस्फोट, 7 पुलिसकर्मियों की मौत

डच नागरिक टीरिंक ने भी बांग्लादेश के मानवीय व्यवहार की प्रशंसा की, जिसमें शराणार्थियों को रहने के लिए विभिन्न शिविर मुहैया कराने जैसी मदद शामिल है।

रखाइन राज्य में 25 अगस्त को सैन्य कार्रवाई के बाद से पौने छह लाख रोहिंग्या शराणार्थी भाग कर बांग्लादेश पहुंचे हैं।

डोनाल्ड ट्रंप ने मनाई दिवाली, इवांका भी रहीं साथ

हाल ही में पहुंचे इन रोहिंग्या शरणार्थियों के बाद बांग्लादेशी शिविरों में रह रहे रोहिंग्या लोगों की कुल संख्या बढ़कर 10 लाख हो गई है।

करीब 4 लाख राज्यहीन मुस्लिम अल्पसंख्यक जो म्यांमार में पिछली हिंसा के बाद भागकर आए थे, वे पहले से ही बांग्लादेश में रह रहे हैं।

=>
LIVE TV