PM मोदी ने मुस्लिमों के धर्मगुरु रहे इमाम हुसैन को किया याद, बोले- उनके बलिदान से ताकत मिलती है….

पीएम नरेंद्र मोदी ने मुहर्रम महीने के दसवें दिन मुस्लिमों के धर्मगुरु रहे इमाम हुसैन को याद किया है. इमाम हुसैन मोहम्मद साहब के नवासे थे और कर्बला की जंग में बहादुरी से लड़ते हुए अपनी शहादत दी थी. पीएम मोदी ने इस मौके पर अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए इमाम हुसैन को याद किया है। 

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि, ‘हम इमाम हुसैन के बलिदान को याद करते हैं. उनके लिए सत्‍य और न्‍याय से बढ़कर कुछ नहीं था. समानता और निष्‍पक्षता पर उनका जोर उल्‍लेखनीय है, इससे बहुतों को ताकत मिलती है.’ बता दें कि इस्लामिक कैलेंडर के पहले माह का नाम मुहर्रम है. मुसलमानों के लिए यह सबसे पाक माह होता है और इस्लामी कैलेंडर वर्ष की शुरुआत भी इसी महीने से होती है.

मुहर्रम माह की 10 तारीख को रोज-ए-आशुरा कहा जाता है. इसी दिन इमाम हुसैन ने कर्बला जंग में शहादत दी थी. मुहर्रम का यह सबसे महत्वपूर्ण दिन माना गया है. इसे गम के महीने के रूप में मनाया जाता है. आज से तक़रीबन 1400 वर्ष पूर्व तारीख-ए-इस्लाम में कर्बला की जंग हुई थी. ये जंग जुल्म के खिलाफ और न्याय के लिए लड़ी गई थी. इस जंग में पैगंबर मोहम्मद के नवासे इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों की शहादत हुई थी.

=>
LIVE TV