मंगलवार , जून 19 2018

जनता तेल के दामों से परेशान, माफिया हो रहे मालामाल

रिपोर्ट- सईद राजा

इलाहाबाद। भू माफिया नकल माफिया और अब तीर्थराज प्रयाग में तेल माफिया इंडियन ऑयल से निकले टैंकर से रोज लाखों का तेल चुरा कर बट्टा लगाते हैं ये तेल माफिया इंडियन आयल और संगमनगरी इलाहाबाद में प्रशासन की मिली भगत से होता है। तेल का खेल, चौकी प्रभारी, थानेदार से लेकर सीओ की निगरानी में फल फूल रहा है।

तेल चोरी

इलाके के दबंग लोगों द्वारा इंडियन आयल के टैंकरों को बाकायदा हातों (प्लाट) में खड़ा कराके तेल को निकाला जाता है टैंकरों में पेट्रोल और डीजल हजारों लीटर की तादात में भरा रहता है जो इंडियन आयल के डिपो से सीधे निकलकर यहां के दबंगों की रसूख के चलते उनके अहाते में टैंकरों को खड़ा कराकर ज्वलनशील पदार्थ को बेखौफ होकर रिहायशी इलाकों में धड़ल्ले से निकाला जाता है सबसे बड़ा सवाल ये है कि इलाके के सभी लोगों को मालूम है कि तेल का खेल बरसों से चल रहा है लेकिन खाकी की तरफ से आज तक कोई कार्रवाई ही नही हुई, क्योंकि तेल के इस खेल में खाकी के लोग भी दागदार हैं जिनकी मदद से तेल का ये काला साम्राज्य फैल रहा है

इलाहाबाद के धूमनगंज थाना क्षेत्र के झलवा के एक हाते में तेल का काला कारोबार होता है इनके गिरोह में सभी एक से बढ़कर एक अपराधी किस्म के बदमाशों की निगरानी में सारा काम  होता है जिनके पास असलहों के साथ लाठी, डंडा, लोहे की राड होती है जिनसे इस तेल गिरोह के बदमाश लैस होकर निगरानी करते हैं अगर इनको किसी के आने की थोड़ी सी भनक लग जाए तो समझिए उसकी खैर नही, तस्वीरों में सभी तेल के खेल में शामिल लोगों के मुंह पर नकाब लगे रहते हैं हर रोज़ इंडियन आयल के तेल से भरें टैंकरों से तेल निकालकर इंडियन आयल का लाखों रुपए का चूना तेल माफिया लगा रहे हैं।

यह भी पढ़े: ‘ईवीएम को बलि का बकरा बनाया जा रहा है, क्योंकि मशीनें बोल नहीं सकतीं’

जिसकी भनक पुलिस प्रशासन को नही, धूमनगंज के झलवा से लेकर ट्रिपलआईटी के बगल में तेल का खेल रोज़ होत है जहां पर प्रत्येक रोज़ डेढ़ से दो लाख रुपए के तेल को चोरी करके तेल माफिया अपनी जेब भर रहें हैं तो वहीं तेल कंपनियों के टैंकरों से निकले तेल से पंप मालिकों की जेबे ढ़ीली कर रहे हैं जिसमें थाना इंचार्ज से लेकर सीओ तक के पास पैसा बांटा जाता है जो कि पूरा तेल का खेल प्रशासन के नाक के नीचे होता है।

=>
LIVE TV