NDA सरकार की बेहतरी जानने के लिए पढ़ें ये खबर, क्योंकि पीएम मोदी ने बताया है कि क्यों हैं बेहतर!

भुवनेश्वर। कांग्रेस और अन्य दलों पर निशाना साधते हुए और इन पर तीन तलाक विधेयक को रोकने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार ने ऐसे फैसलों को लेने का साहस किया है, जिसे अन्य लेने से डरते थे।

पीएम मोदी

मोदी ने कहा, “तीन दिन पहले केंद्र ने फैसला किया, जिसे दशकों पहले लिए जाने की जरूरत थी। जब मंशा साफ होती है तो फिर किसी को ऐसे फैसले लेने की जरूरत होती है, जो कोई और लेने का साहस नहीं कर सका। इनमें से एक फैसला तीन तलाक को लेकर था।”

उन्होंने तीन तलाक को अपराध की श्रेणी में लाने वाले अध्यादेश के संदर्भ में कहा, “जब हमारी सरकार ने तीन तलाक पर फैसला किया, तो राज्य सभा में इसे रोकने का प्रयास किया गया। अब यह अवैध घोषित हो चुका है।”

ओडिशा के तालचेर में देश के पहले कोयला-गैसीकरण कारखाने की आधारशिला रखने के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार नवीनीकृत ऊर्जा और तेज गति से देश को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए प्रतिबद्ध है।

प्रधानमंत्री ने अंगुल जिले में कहा, “तालचेर कारखाना पिछली सरकार की विफलता का सबूत है, लेकिन यह हमारी उपलब्धि का साक्षी होगा।”

उन्होंने कहा कि यह कारखाना नए ओडिशा और नए भारत के लिए एक नया अध्याय लिखेगा और यह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के सबसे सफल कार्यो में से एक होगा।

मोदी ने कहा कि जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार केंद्र में सत्ता में आई, तो उर्वरक कारखाने पर ्र काम ने रफ्तार पकड़ी।

उन्होंने कहा, “मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि तालचेर उर्वरक कारखाने के निर्माण का काम 36 महीनों में पूरा हो जाएगा और मैं इसका उद्घाटन करने के लिए दोबारा आऊंगा।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह यह जानकार हैरान रह गए कि ऐसे उवर्रक कारखाने स्थापित करने के वादे वर्षो से किए जा रहे हैं, लेकिन वास्तव में इस पर कोई काम नहीं हुआ।

प्रधानमंत्री ने केंद्र की आयुष्मान भारत योजना को नहीं अपनाने और स्वच्छता अभियान की गति को बनाए रखने में विफल रहने को लकेर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा, “करीब 10 करोड़ परिवार, जिसमें करीब 50 करोड़ लोग हैं, उन्हें आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से लाभ होगा, जो कल (23 सितंबर) को झारखंड से लांच होगा।”

मोदी ने कहा, “अगर ओडिशा सरकार सहयोग नहीं करती है तो मैं आपकी सेवा नहीं कर सकूंगा।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि ओडिशा के लोगों के स्वास्थ्य के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री से स्वच्छता अभियान को प्राथमिकता देने का आग्रह किया है, अन्यथा सफाई के मामले में ओडिशा पिछड़ जाएगा।

उन्होंने यह भी कहा कि ओडिशा को पांच नए मेडिकल कॉलेज मिलेंगे और केंद्र सरकार इन कॉलेजों के लिए 570 करोड़ रुपये दे रही है।

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के मशहूर कथन का जिक्र करते हुए, जिसमें उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार के भेजे एक रुपये में से केवल 15 पैसा लाभार्थियों तक पहुंचता है, मोदी ने कहा, “वे इस बीमारी के बारें में जानते थे, लेकिन इसका समाधान करने को लेकर उनके पास कोई विजन नहीं था।”

यह भी पढ़ें:- ब्राह्मण समाज सरकार के खिलाफ लामबंद, सीएम शिवराज की बढीं मुश्किलें

मोदी ने कहा, “आपको शायद याद होगा कि देश में हमारे एक प्रधानमंत्री थे, जिन्होंने कहा था कि दिल्ली से अगर एक रुपया भेजा जाता है तो राज्यों तक महज 15 पैसा पहुंचता है। ऐसा भ्रष्टाचार सालों तक जारी रहा। हालांकि, हमारी सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि जो भी धन आवंटित किया जाए, पूरा लोगों तक पहुंचे।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “जन धन योजना के चलते ओडिशा में एक करोड़ तीस लाख गरीबों के पास बैंक खाते हैं और सरकार द्वारा दिया जा रहा लाभ सीधे इन खातों में पहुंच रहा है।”

यह भी पढ़ें:- ओलांद के बयान से खड़ा हुआ सियासी बखेड़ा, कांग्रेस पार्टी को मिली संजीवनी!

गरीबों को एक रुपये प्रति किलो चावल उपलब्ध कराने के नवीन पटनायक के दावे के बारे में मोदी ने कहा कि ऐसा केवल तभी संभव है, जब सरकार चावल पर सब्सिडी देती है। उन्होंने कहा, “हमने इन सब्सिडी के लिए नवीन पटनायक सरकार को 450 करोड़ रुपये दिए।”

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV