ब्राह्मण समाज सरकार के खिलाफ लामबंद, सीएम शिवराज की बढीं मुश्किलें

उज्जैन। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा एससी/एसटी एक्ट को लेकर दिए गए फैसले को केंद्र सरकार द्वारा संसद में अध्यादेश लाकर बदले जाने का मध्यप्रदेश में विरोध जारी है। इसी क्रम में उज्जैन में ब्राह्मण समाज ने एक महाकुंभ का आयोजन कर सरकार के फैसले पर विरोध दर्ज कराया।

शिवराज

साथ ही ब्राह्मणों के लिए कल्याण बोर्ड के गठन की मांग कर दी। उज्जैन के दशहरा मैदान में शुक्रवार को ब्राह्मण समाज का महाकुंभ आयोजित किया गया। इसमें जुटे लोगों ने केंद्र सरकार के फैसले को समाज में बंटवारा पैदा करने वाला कदम बताया। ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधियों ने एक स्वर में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को सही ठहराया और संसद द्वारा किए गए संशोधन का विरोध किया।

यह भी पढ़ें:- ओलांद के बयान से खड़ा हुआ सियासी बखेड़ा, कांग्रेस पार्टी को मिली संजीवनी!

महाकुंभ में जुटे अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष सुरेंद्र चतुर्वेदी, महामंत्री रामेश्वर दुबे व रमेश चंद्र पंड्या ने जातिगत आधार पर आरक्षण देने का विरोध किया, साथ ही पदोन्नति में आरक्षण को खत्म किए जाने पर जोर दिया। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा एससी-एसटी एक्ट को लेकर दिए गए फैसले को लागू करने की मांग की गई।

यह भी पढ़ें:- पीएम मोदी ने बताई पटनायक सरकार की पहचान, अब आप भी जान लें

ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधियों ने राज्य सरकार से मांग की है कि अन्य राज्यों की तरह मध्यप्रदेश में भी ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन किया जाए और इसके जरिए ब्राह्मण युवाओं को विशेष सुविधा दी जाए।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV