वास्तु के अनुसार बनाएं शुभ रंगोली, घर में सबको इस तरह करें खुश

आज छोटी दीपावली का त्योहार पूरे देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। लोग अपने घर को सजाने के लिए तरह-तरह के संसाधन का इस्तेमाल करते हैं। कुछ लोग पुराने तरीकों से अपने घर को सजाते हैं तो कुछ लोग नए तरीकों से अपने घर को सजाते हैं। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आप अपने घर को वास्तु के अनुसार सजा सकते हैं।

छोटी दीपावली

इस रंगोली से शुभ होगी दीवाली

तोरण और दिये की तरह ही रंगोली या मांडने भी दीपावली की सजावट का अहम हिस्सा है। शुभता का प्रतीक रंगोली आटा, चावल, हल्दी, कुमकुम, फूल-पत्तियों या अनेक प्रकार के रंगों से अलग-अलग डिजाइन में बनाई जाती है। लेकिन क्या आप जानते  हैं कि यदि वास्तु नियमों के अनुसार रंगोली दिशाओं और रंगों को ध्यान में रखकर बनाई जाए तो यह हमारे जीवन में खुशियां, समृद्धि और उपलब्धियां लेकर आती हैं। माहौल को खुशनुमा बनाती है। रंगोली बनाने से आस-पास की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती है और वहां सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। घर पर देवी-देवताओं की कृपा बनी रहती है।

छोटी दीपावली

— यदि आपका घर पूर्वमुखी है और आप मुख्यद्वार पर रंगोली बना रही हैं, तो घर में सौहार्दपूर्ण वातावरण के विकास एवं मान-सम्मान में वृद्धि के लिए यहां अंडाकार डिजाइन में रंगोली बनायें। पूर्व दिशा में अंडाकार डिजाइन जीवन में विकास के नए मार्गों को प्रशस्त करता है।
— पूर्व दिशा में रंगोली बनाने के लिए सात्विक और ऊर्जा प्रदान करने वाले रंग जैसे लाल,पीला,हरा,गुलाबी,नारंगी आदि का इस्तेमाल समृद्धि को बढ़ाता है।
— उत्तर मुखी घर के लिए उत्तर दिशा में लहरदार या जल के गुण से मिलता-जुलता डिजाइन बनाकर आप अपने जीवन में स्पष्टता और उन्नति के नए अवसरों को आमंत्रित कर सकते हैं।पीले,हरे,आसमानी और नीले रंगों का प्रयोग इस दिशा की रंगोली के लिए करना बहुत शुभ माना गया है।
— दक्षिण-पूर्व में त्रिकोण एवं दक्षिण मुखी घर में खूबसूरत आयताकार पैटर्न की रंगोली बनाना आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा। इस दिशा की रंगोली में रंग भरने के लिए आप गहरा लाल, नारंगी, गुलाबी एवं बैंगनी रंगों का प्रयोग कर सकते हैं। इस प्रकार से बनाई हुई रंगोली आपके जीवन में सुरक्षा,यश एवं आत्मविश्वास को बढ़ाने में मददगार साबित होगी।
— यदि आपका घर पश्चिम मुखी है तो सुनहरे एवं सफ़ेद रंगों के इस्तेमाल के साथ गोलाकार रंगोली बनाएं।सफ़ेद और सुनहरे रंगों के साथ लाल, पीला, भूरा, हल्का हरा जैसे रंगों का प्रयोग भी कर सकते हैं। यहां पर पंचकोण आकार लिए हुए भी रंगोली बनाई जा सकती है। इस दिशा में इस प्रकार की सुन्दर रंगोली बनाकर आप अपने जीवन में लाभ एवं प्राप्तियों को आमंत्रित कर सकते हैं।
— रंगोली के अलावा कई जगह दिवाली के मौके पर आज भी सुंदर मांडने बनाए जाते हैं। लक्ष्मी जी के स्वागत में गेरू और सफ़ेद खड़िया से बनाए गए मांडने समृद्धि के आगमन के घोतक हैं।

 

 

=>
LIVE TV