जानें… हमारे शरीर के लिए क्या काम करते हैं यह एंटीऑक्सीडेंट्स

आपने ज्यादातर एंटीऑक्सीडेंट्स का नाम सुना होगा, सुना होगा कि यह कई खाने की चीजों में पाया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह खाने के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि यह एंटी-ऑक्सीडेंट्स क्या है, और यह हमारे शरीर के लिए किस तरह से फायदा करता है। एंटीऑक्सीडेंट्स की कमी के कारण आपको कई तरह के रोग होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

एंटीऑक्सीडेंट्स

एंटीऑक्सीडेंट्स

यह बात हम सभी को पता है कि हमारा शरीर कई करह की कोशिकाओं से मिलकर बना हुआ होता है। इन कोशिकाओं में ऑक्सिडेशन की प्रक्रिया भी होती है जो कई बार इन कोशिकाओं के लिए बहुत ही खतरनाक होती है यह टिशूज को नष्ट तक कर देती हैं। एंटीऑक्सीडेंट्स का सेवन करने से यह ऑक्सिडेशन को रोकने में मदद करते हैं। साथ ही नई कोशिकाओम के बनने में मदद भी करते हैं।

यह भी पढ़ें: इस समस्याओं को बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे यह एसिडिक फूड्स

फ्री रेडिकल्स को रोकते हैं एंटीऑक्सीडेंट्स

एक और शब्द आप अक्सर सुनते होंगे, फ्री रेडिकल्स। फ्री रेडिकल्स मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया के दौरान शरीर में लगातार बनते रहते हैं। अगर शरीर में पर्याप्त एंटीऑक्सीडेंट्स न हों, तो फ्री रेडिकल्स शरीर को पूरी तरह नष्ट कर सकते हैं। हालांकि यह जान लेना जरूरी है कि शरीर के लिए हानिकारक होते हुए भी शरीर की कई प्रक्रियाओं के लिए फ्री रेडिकल्स जरूरी हैं। हमारे शरीर का इम्यून सिस्टम इन फ्री रेडिकल्स का इस्तेमाल बैक्टीरिया को मारने के लिए करता है। इसलिए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें अपने शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्री रेडिकल्स की मात्रा को बैलेंस रखना पड़ता है।

यह भी पढ़ें: महिलाओं को ही नहीं 30 के बाद पुरुषों को भी प्रोटीन की आवश्यकता

एंटीऑक्सीडेंट्स के स्रोत

•नींबू में मौजूद एंटीऑक्सी्डेंट आपके  बालों और त्वकचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

•स्ट्रॉबेरी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पाया जाता है जो शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्स को खत्म कर रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं।

•नट्स यानी सूखे मेवे विटामिन ई का बेहतरीन स्रोत हैं, जो कि एक एंटीऑक्सीडेंट है। नट्स में बादाम, अखरोट, पिस्तार, काजू आदि का सेवन कर सकते हैं।

•नट्स जैसे कि बादाम, अखरोट, पिस्ता, काजू आदि में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑ

•ब्रोकली में भी अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पाया जाता है। इसमें विटामिन सी और सेलेनियम पाया जाता है।

•अंडे में मौजूद विटामिन ई ऑक्सीाकरण प्रक्रिया को समाप्ता करने के लिए आवश्यिक होता है।

•मछली में सेलेनियम भरपूर पाया जाता है, जो कि एक जरूरी एंटीऑक्सीडेंट है।

•ब्राउन राइस में पॉलीफिनॉल नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होता है। ब्राउन राइस में कैलारी की मात्रा बहुत कम होती है और यह ग्लूाटन फ्री होता है।

•बीन्सन में सिस्टीन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है।

•केला एंटीऑक्सीडेंट्स का सबसे अच्छा  स्रोत है। पके केले में कच्चे केले से ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं।

=>
LIVE TV