Thursday , October 19 2017

VIDEO: इन गानों के जरिए आज भी जिंदा हैं किशोर दा

मुंबई : आज मशहूर सिंगर और एक्टर किशोर कुमार की पुण्यतिथि है. 30 साल बाद भी किशोर दा लोगों के दिलों में जिंदा है. आज भी लोग उनके गानों को सुनते हैं. किशोर कुमार ने बतौर एक्टर अपने करियर की शुरुआत की थी लेकिन उनकी सिंगिंग ने लोगों के दिलों में अलग पहचान बनाई. 13 अक्टूबर 1987 को 58 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. उनकी पुण्यतिथि के मौके पर उनके गाए सदाबहार गाने आइए सुनते हैं.

किशोर मध्य प्रदेश के खंडवा के रहने वाले हैं. उन्हें पहली बार गाने का मौका साल 1948 में बनी फिल्म ‘जिद्दी’ में मिला. इस गाने को उन्होंने देव आनंद के लिए गाया था. ‘जिद्दी’ की सफलता के बावजूद उन्हें न तो पहचान मिली और न कोई खास काम मिला.

किशोर ने एक्टिंग की दुनिया में कदम साल 1948 में आई फिल्म शिकारी से रखा. इस फिल्म में उनके बड़े भाई अशोक कुमार ने लीड रोल निभाया था.

यह भी पढे़ंः #BB11: विकास गुप्ता बने घर के मुखिया, सरगुन मेहता और मनु पंजाबी की होगी धमाकेदार एंट्री

गायिकी की शुरुआत में किशोर दा को एसडी बर्मन और अन्य संगीतकारों ने अधिक गंभीरता से नहीं लिया था. किशोर दा ने 1957 में बनी फिल्म ‘फंटूस’ में ‘दुखी मन मेरे’ गीत से इंडस्ट्री में अपना दबदबा कायम किया. इसके बाद एसडी बर्मन ने किशोर को अपने संगीत निर्देशन में कई गीत गाने का मौका दिया, जिनमें ‘मुनीम जी’, ‘टैक्सी ड्राइवर’, ‘फंटूश’, ‘नौ दो ग्यारह’, ‘पेइंग गेस्ट’, ‘गाईड’, ‘ज्वेल थीफ’, ‘प्रेम पुजारी’, ‘तेरे मेरे सपने’ जैसी फिल्मों के नाम शामिल हैं.

किशोर कुमार ने वर्ष 1940 से वर्ष 1980 के बीच के अपने करियर के दौरान करीब 574 से अधिक गाने गाए. किशोर कुमार ने 81 फिल्मों में अभिनय किया और 18 फिल्मों का निर्देशन भी किया.

किशोर ने हिन्दी के साथ तमिल, मराठी, असमी, गुजराती, कन्नड़, भोजपुरी, मलयालम और उड़िया फिल्मों के लिए भी गीत गाए.

 

 

 

=>
LIVE TV