घर पर मंदिर बनवाते समय रखें कुछ बातों का ध्यान, जीवन बीतेगा खुशहाल

घर में मंदिर तो सभी के होता है। लोग इस मंदिर में बड़ी ही भक्ति से पूजा-पाठ भी करते हैं। लेकिन कुछ ना कुछ ऐसा होता हैं कि वह खुश नहीं रह पाते हैं। ऐसे में उनकी इस परेशानी का जिम्मेदार वह कभी खुद को तो कभी ईश्वर को मान बैठते हैं। लेकिन उनका ऐसा कहना गलत है क्योंकि भगवान आपसे तब ही गुस्सा होते हैं जब आप भक्ति से पूजा नहीं करते हैं या तो उनके घर में मंदिर की दिशा ठीक नहीं होती है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अपने घर में मंदिर को किस दिशा में रखें।

घर पर मंदिर

नियम-

वास्तु के अनुसार घर की दक्षिण दिशा में कभी भी मंदिर नहीं होना चाहिए। क्योंकि इस दिशा में ही सबसे ज्यादा नकारात्मक ऊर्जा होती है।

गर का मंदिर हमेशा पूर्व दिशा में ही होना चाहिए। या फिर यह मंदिर पूर्व या तो उत्तर दिशा से लगा हुआ होना चाहिए।

पूजा घर में कभी भी किसी गुरु या पूर्वज की तस्वीर नहीं होनी चाहिए। ऐसा करने से वास्तु का बड़ा दोष लगता है।

पूजा की दीवार कभी भी किसी दीवार से मिली हुई नहीं होनी चाहिए।

पूजा घर के आस-पास कभी भी किसी चीज को स्टोर करके नहीं रखना चाहिए।

भगवान की मूर्ति दीवार से थोड़ा हटा कर रखनी चाहिए।

 

 

=>
LIVE TV