जगदीश गांधी ने सुनाया ऐसा किस्सा जिसे सुनकर आपको भी होगा गर्व, ऐसे थे वाजपेयी जी

रिपोर्ट- नीरज श्रीवास्तव

लखनऊ। सीएमएस स्कूल के संस्थापक जगदीश गांधी जिसे एक खास बातचीत में उन्होंने स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई जी के साथ अपने अनुभवों को लेकर बताया गया कि 1962 में लखनऊ से मैं भी चुनाव लड़ा अटलजी के खिलाफ और अटल जी के लिए जितना मैं गलत-शलत बोल सकता था।

जगदीश गांधी

उतना बोला। परिणाम हम दोनों लोग हार गए उसके बावजूद भी अटल जी के दिल में मेरे लिए कोई भी मेल नहीं था।

मैंने राजनीति छोड़ी उसके बाद मैं अटल जी से मिला, तो उन्होंने मुझको छोटे भाई की तरह सम्मान दिया। मेरे एक निमंत्रण पर 1992 में हमारे स्कूल में आए उन्होंने कहीं से भी जाहिर नहीं होने दिया कि कभी मैंने उनको चुनाव के दौरान उनके खिलाफ टिप्पणी भी की थी।

इतना महान हृदय था हमारे भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी का वह बात करते-करते भावुक हो गए और उन्होंने अटल जी के संसदीय क्षेत्र लखनऊ में उनके द्वारा कई बातों को शेयर किया।

यह भी पढ़ें:- अखिलेश यादव ने अपने अंदाज़ में बताई ‘भारत रत्न’ की महानता

उनके द्वारा बताया गया कि वह एक विशाल हृदय वाले व्यक्ति थे। उनको पक्ष और विपक्ष दोनों में ही चाहने वाले समान रूप से थे।

यह भी पढ़ें:- मैट्रिमोनियल साइट्स के ज़रिये ज़िन्दगी से खेलता था यह शख्स, जानें कारनामें

आज अटल जी के देहांत पर उन्होंने बताया कि एक युग का अंत हो गया। ऐसा तेजस्वी नेता न कभी हुआ था और अब न ही कभी होगा। भारत देश को एक विशाल क्षति का सामना करना पड़ रहा है।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV