Monday , September 24 2018

योगी सरकार ने बेनामी संपत्ति मामले में सिंचाई विभाग के दो अभियंता को किया निलंबित

बेनामी संपत्तिलखनऊ। करोड़ों की बेनामी संपत्ति रखने के मामले में उत्तर प्रदेश में सिंचाई विभाग के दो अधीक्षण अभियंताओं जी.सी. अग्रवाल और राजेश्वर सिंह को निलंबित कर दिया गया है। यह कार्रवाई उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह के निर्देश पर की गई है। सिंचाई मंत्री ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि इलाहाबाद में अधीक्षण अभियंता के पद पर कार्यरत जी.सी. अग्रवाल को निविदाएं आमंत्रित करने में बरती गई अनियमितताओं के चलते निलंबित किया गया है।

यह भी पढ़ें:- राम मंदिर निर्माण से जुड़े पक्षकारों से मुलाकात करने अयोध्या जाएंगे श्रीश्री रविशंकर

मुख्य अभियंता द्वारा की गई जांच में पाया गया था कि अग्रवाल ने अपने परिचित ठेकेदार को फायदा पहुंचाने के लिए अपने अनावश्यक रूप से शर्तें लगाई थीं, साथ ही अल्पकालिक निविदाओं के लिए पर्याप्त समय न देकर परिचितों को फायदा पहुंचाया गया था।

यह भी पढ़ें:- अयोध्या में जनसभा कर सीएम योगी ने किया निकाय चुनाव प्रचार का आगाज

वहीं राजेश्वर सिंह को आयकर विभाग के छापों में मिली करोड़ों की बेनामी सम्पत्ति एकत्र करने और भ्रष्टाचार करने के आरोपों में निलंबित किया गया है।

गौरतलब है कि यूपी सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता राजेश्वर सिंह यादव के दिल्ली नोएडा, एटा समेत सात शहरों के ठिकानों में छापेमारी कर करोड़ों रुपये की अवैध संपत्ति हासिल की थी।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV