iphone की बिक्री भारत में क्यों है मुश्किल?

iphone_landscape_1458633954एजेन्सी/एप्पल अपना नया आईफोन एसई लेकर मार्केट में फिर हाजिर है। खास बात ये भी है कि इसके फीचर ए वन हैं और उस मुकाबले कीमत कम है। लेकिन आईफोन को लेकर भारत में चिंताजनक बात ये है कि इसकी बिक्री क्या उतनी हो पाएगी जितनी उम्मीद है?

भारत औऱ चीन जैसे देशों में ऐसा हो पाना मुश्किल लगता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इन देशों में स्मार्टफोन ही डिजिटल दुनिया से जुड़ने का सबसे बड़ा जरिया है। इसलिए यहां बड़ी स्क्रीन का ज्यादा महत्व है।

भारत में 6-7 हजार रुपए से शुरू होने वाले स्मार्टफोन की भी स्क्रीन पांच इंच की होती है। यहां लोग बड़ी स्क्रीन इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि उनके पास लैपटॉप-टैबलैट नहीं होता। काफी काम मोबाइल पर ही होता है। नए आईफोन की स्क्रीन भी 4 इंच ही है।

पिछले दिसंबर के आखिर तक जितने स्मार्टफोन बिके उनमें से सिर्फ 10% फोन चांर इंच स्क्रीन के थे। जहां भारत में बिकने वाले स्मार्टफोन्स में से 70% की कीमत 10,000 रुपए से कम है। ऐसे में 26,000 रुपए के आईफोन एसई का ज्यादा से ज्यादा खरीददारों तक पहुंच पाना मुश्किल लगता है।

कैलीफॉर्निया में आईफओन एसई के लॉन्च के दौरान कंपनी के आईफोन प्रोडक्ट मार्केटिंग उपाध्यक्ष ग्रेग जोसवैक ने बताया कि कंपनी चीन और भारत में आईफोन की सेल को लेकर काफी उम्मीद जता रही है।

चीन एप्पल का दूसरा सबसे बड़ा मार्केट है और भारत बहुत तेजी से बढ़ रहा बाजार। ये नया आईफोन एसई खासकर भारत में बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। कंपनी को लगता है कि अगले दो सालों स्मार्टफोन की मार्केट 200 मिलियन तक पहुंच जाएगी।

लेकिन असल में भारत और चीन जैसे बाजारों में ऐसा होना मुश्किल है।

=>
LIVE TV