बाबा विश्वनाथ के दर पर पहुंचे गोविंदा, भोले की भक्ति में लीन होकर किया मंत्रोच्चार

रिपोर्ट- अमित सिंह

वाराणसी। बॉलीवुड के हीरो नंबर-1 कहे जाने वाले गोविंदा का काशी प्रेम किसी से छुपा नहीं है। बनारस उनका ननिहाल भी है। गोविंदा काफी दिनों बाद शनिवार को एक बार फिर काशी में नज़र आये। शाम होने से पहले बाबा काल भैरव मंदिर में विधि विधान से दर्शन के बाद गोविंदा ने बाबा विश्वनाथ के दर पर मत्था टेका। यहां से गोविंदा सीधे होटल के लिए रवाना हो गये। इस दौरान विश्‍वनाथ गली में उनके फैंस उनकी एक झलक पाने के लिए बेताब दिखे गए। छत्ताद्वार से बांसफाटक पार्किंग तक पैदल चले गोविंदा की एक झलक पाने के लिए लोगों में जबरदस्‍त बेताबी दिखी।

govinda2

बॉलीवुड के सुपरस्टार गोविंदा शनिवार को वाराणसी पहुंचे। सुबह से लग रहे कयासों के बीच गोविंदा ने शाम होते ही बाबा काल भैरव का दर्शन किया और बाबा विश्वनाथ के दर्शन करने पहुंचे। यहां उन्हें मंदिर के प्रधान अर्चक श्रीकांत जी महाराज ने षडोशोपचार पूजन विधि से बाबा विश्वनाथ का पूजन करवाया। उसके बाद गोविंदा काफी समय तक अन्नपूर्णा मंदिर में दर्शन करने के बाद अन्नपूर्णा मंदिर के महंत से आशीर्वाद लेने पहुंचे।

छत्ताद्वार से होटल वापस जाते समय गोविंदा ने यजुर्वेद का मन्त्र पढ़ते हुए कहा

‘ॐ विश्वानि देव. सवितुर्दुरितानि परासुव। यद् भद्रं तन्न आसुव’

भावार्थ : ॐ, सर्व विद्यमान ईश्वर हमारी गलतियों और बुरे स्वभावों से छुटकारा दिलाने में हमारी सहायता करें। सद् गुण विकसित करने में हमारी सहायता करें।

इसके बाद उन्होंने महामृत्‍युंजय मन्त्र पढ़ा- 

ॐ त्र्यम्बक यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धन्म। उर्वारुकमिव बन्धनामृत्येर्मुक्षीय मामृतात्।।

इसके साथ ही हर हर महादेव का महाघोष करते हुए आगे बढ़ गए। गोविंदा से जब बॉलीवुड और राजनीति से जुड़े सवाल पूछे गये तो उन्होंने मना कर दिया और कहा फिर कभी।

यह भी पढ़े: प्रदेश में बड़ा हादसा, आकाशीय बिजली गिरने से हुई 7 बच्चों की मौत, 4 घायल

गाड़ी के पार्किंग में खड़े होने की वजह से गोविंदा को छत्ताद्वार से पैदल ही बांसफाटक तक जाना पड़ा। इस दौरान उन्होंने काशी की सड़कों को और किनारे की अट्टालिकाओं को निहारा। अपने स्टार को सड़क पर देख कर लड़किया चिल्ला कर उन तक दौड़ पड़ी, तो वहीं कई फैंस ने उनके साथ सड़क पर चलते हुए ही सेल्फी भी ली।

=>
LIVE TV