गुरूवार , जून 21 2018

PNB महाघोटाले पर जेटली ने बताई असलियत, ये है सरकार की मजबूरी

नई दिल्ली: ग्लोबल बिजनेस समिट में PNB महाघोटाले को लेकर वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि भारत में किसी भी मामले में पॉलिटिशियन की जवाबदेही तो होती है, लेकिन नियामकों (Regulators) की कोई जवाबदेही नहीं होती है, जबकि हकीकत यह है कि नियमों से जुड़े फैसले ये नियामक ही लेते हैं.

वित्तमंत्री अरुण जेटली

जेटली ने कहा कि अगर एक फर्जीवाड़ा बैंकिंग व्यवस्था की कई शाखाओं में होता है और कोई भी इसके खिलाफ न तो आवाज उठाता है और न ही जानकारी देता है, तो यह एक चिंताजनक स्थिति है.

वित्तमंत्री अरुण जेटली का बयान

उन्होंने घपले के लिए बैंक के शीर्ष प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया.

यह भी पढ़ें : RBI का बड़ा फैसला, ट्रांसफर कर लो सारा पैसा, 7 दिन में बंद होंगे ये ‘बैंक’

वित्तमंत्री ने कहा कि इस तरह के बैंक फ्रॉडसे बाजार और देश की तरक्की में बाधा बनते हैं.

वित्तमंत्री ने कहा कि अगर समय-समय पर विलफुल डिफॉल्ट और बैंक फ्रॉड होते रहे, तो कारोबार को आसान बनाने की सारी कोशिश पीछे ही रह जाएंगी और ऐसी परेशानियां आगे आ जाएंगी.

यह भी पढ़ें : मार्च में आम जनता का घाटा पक्का, बैंकों के नुकसान को इस तरह वसूलेगा आरबीआई!

उन्होंने कहा कि कर्ज लेने और देने वाले के अनैतिक व्यवहार और गठजोड़ को खत्म करने की जरूरत है. इंडस्ट्री को भी कारोबार को आसान बनाने के लिए सही व्यवस्था को आदत में लाना चाहिए.

 

=>
LIVE TV